अमरोहा, जेएनएन। कांग्रेस के प्रदेश सचिव सचिन चौधरी पुलिस को चकमा देकर गांधी मूर्ति तक जाने में कामयाब रहे। वह अकेले ही अनशन पर बैठ गए और भूख हड़ताल शुरू कर दी। नजरबंद होने के कारण अन्य कांग्रेसी वहां नही पहुंच सके। हालांकि पुलिस ने 15 मिनट में ही अनशन खत्म करवा दिया। जबरन उठाकर कोतवाली ले गई। 

अनशन की पहले ही की थी घोषणा

मालूम हो कि गुरुवार को कांग्रेस के प्रदेश सचिव सचिन चौधरी ने सीएए और एनआरसी को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ अनशन शुरू करने की घोषणा की थी। चूंकि जिले में धारा 144 लागू है, लिहाजा उन्हें अनुमति नही दी गई थी। सचिन चौधरी ने गांधी मूर्ति पर अनशन शुरू करने की चेतावनी दी थी। इसे लेकर पुलिस ने जिले के कांग्रेसियों को नजर बंद कर दिया था। जिलाध्यक्ष ओमकार कटारिया व नगर अध्यक्ष परवेज टीटू समेत कई कांग्रेस के पदाधिकारियों को सुबह से नजरबंद कर दिया गया था। गांधी मूर्ति चौराहे पर भी पुलिस बल तैनात था। नगर में भी प्रत्येक चौराहे पर पुलिस बल तैनात था तथा सचिन चौधरी पर नजर रखी जा रही थी। पंरतु सचिन चौधरी पुलिस को चकमा देकर गांधी मूर्ति तक पहुचने में कामयाब रहे। 

कार से उतरकर पहुंचे अनशन करने

लगभग सवा बारह बजे वह अचानक कार से उतर कर गांधी प्रतिमा के सामने अनशन पर बैठ गए। फौरन ही पुलिस हरकत में आ गई। प्रभारी निरीक्षक रविंद्र सिंह भी मौके पर आ गए। पहले कोतवाल ने उन्हें समझाया, लेकिन सचिन नही हटे। उसके बाद प्रभारी निरीक्षक व एलआइयू निरीक्षक संजय चौधरी के साथ पुलिस ने सचिन चौधरी को जबरन वहां से हटा दिया। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस