मुरादाबाद। रामपुर जिले के शाहबाद में सड़क दुर्घटना में युवक की मौत होने पर गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क पर जाम लगाकर हंगामा किया। समझाने पर भी ग्रामीण सड़क से नहीं हटे तो पुलिस ने लाठीचार्ज करके उन्हें खदेड़ दिया। ग्रामीणों ने भी पुलिस पर पथराव किया है।

शाहबाद थाना क्षेत्र के ग्राम भीतरग़ांव निवासी महेन्द्र सिंह (30) अपने तहेरे भाई शिव नारायण (32) के साथ साइकिल से नगर में मजदूरी करने आ रहे थे। जब वे शाहाबाद बिलारी मार्ग पर ग्राम मंगोली के पास पहुंचे तो बिलारी की ओर से आ रही पिकअप ने उन्हे टक्कर मार दी। हादसे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। आनन-फानन में दोनो को सीएचसी में भर्ती कराया, जहां से डॉक्टरों ने हालत गंभीर देख दोनो को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इस बीच रास्ते में ही महेंद्र की मौत हो गई।

 गुस्साए ग्रामीणों ने बिलारी मार्ग पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण ड्राइवर की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। घटना के बाद पिकअप चालक गाड़ी छोड़कर जंगल की ओर फरार हो गया था। जाम की वजह से मार्ग के दोनो ओर कई किलोमीटर तक गाड़ियों की कतार लग गई है।

सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। शाहबाद में हादसे के बाद जाम लगा रहे ग्रामीण नहीं माने तो पुलिस ने बल प्रयोग शुरू कर दिया। मौत के विरोध पर पुलिस की लाठी खाने से ग्रामीणों में गुस्सा भड़क गया। उन्होंने भी पुलिस की तरफ पत्थर फेंके। बताते हैं कि कई पुलिस वाले पत्थर लगने से चोटिल हो गए। पुलिस ने ग्रामीणों पर लाठीचार्ज कर जाम खुलवा दिया है। मौके पर तनातनी होने के कारण पुलिस को तैनात किय़ा गय़ा है। 

Posted By: Rashid