अमरोहा,जेएनएन।  दूसरे राज्यों से वापस लौटे प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ्य विभाग कुंडली खंगाल रहा है। बारबर का काम करने वाले लोगों को तलाश कर उन्हें मेडिकल क्वारंटाइन करवाने की तैयारी है। उनका रिकॉर्ड भी बनाया जा रहा है। विभिन्न जनपदों में प्रवासी मजदूरों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने से शासन की नींद उड़ी हुई है। लिहाजा स्वास्थ्य विभाग को सक्रिय किया गया है। गजरौला क्षेत्र में तीन सौ के करीब लोग अपने घर पहुंचे हैं। शहर व गांव में आए इन मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कर होम क्वारंटाइन किया गया है। अब गैर राज्यों से लौटने वाले इन मजदूरों की पड़ताल कराई जा रही है। खासकर बारबर का काम करने वालों को तलाशा जा रहा है ताकि उनकी जांच कराकर उन्हें क्वारंटाइन कराया जा सके। बाहर से आने वाले लोगों के घरों पर होम क्वारंटाइन का पोस्टर भी चस्पा किया जा रहा है। चिकित्सा अधीक्षक डॉ योगेंद्र ङ्क्षसह ने बताया प्रवासी मजदूरों का रिकॉर्ड बनाया जा रहा है। किसी मजदूर में अगर कोरोना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे तत्काल प्रभाव से मेडिकल क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती कराया जाएगा।

 28 मजदूरों को कराया गया मेडिकल क्वारंटाइन, नमूने भेजे

 क्षेत्र के दो मेडिकल  क्वारंटाइन सेंटर में 28 मजदूरों को भर्ती कराया गया। उनके नमूने भी जांच के लिए भेजे गए हैं। शनिवार व रविवार को स्वास्थ विभाग ने 28 मजदूरों को संजीवनी व भारतीय मेडिकल क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती कराया है। यह वह लोग हैं जो गैर राज्यों से लौट रहे थे। उनके नमूने भी जांच के लिए भेज दिए हैं। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस