मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Power Department Revamp System : महानगर की आबादी बढ़ने के साथ ही जरूरतें भी अधिक हो रहीं हैं। ऐसे में बिजली आपूर्ति भी जरूरी है। नई कालोनियों के साथ हर एक के घर का मीटर भी अलग हो रहा है। इसके लिए रिवैंप स्कीम शुरू की गई है। अगले 10 साल को ध्यान में रखकर नए बिजलीघर निर्माण कराने के साथ ही ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि का ब्लूप्रिंट तैयार हो चुका है।

जिले में बिजली व्यवस्था सुधार के लिए बिजली विभाग के ब्लूप्रिंट के मुताबिक नए 33/11 केवी बिजली घर, 11 पावर ट्रांसफार्मर, अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर, लो-वोल्टेज से निजात दिलाने के लिए 501 ट्रांसफार्मर, कम वोल्टेज की समस्या को दूर करने के लिए 11/0.4 केवी वितरण ट्रांसफार्मर की स्थापना की जाएगी। आसपास के वितरण ट्रांसफार्मर के ओवरलोडिंग 383 ओवरलोडिंग को दूर करने के लिए मौजूदा वितरण ट्रांसफार्मर का विस्तार किया जाएगा। 11 केवी कृषि फीडर स्प्लिटिंग आसपास के वितरण ट्रांसफार्मर के 33/11 केवी 5/5 पर कैपेसिटर बैंक की स्थापना 541 लगाए जाएंगे। कंडक्टर का प्रतिस्थापन 33 केवी फीडर आवश्यकता के अनुसार 11/.04 केवी एस-एस की एलटी लाइन के कंडक्टर के प्रतिस्थापन किए जाएंगे। एएमआइ मीटर बख़्तरबंद केबलिंग 33 केवी, 11 केवी और एलटी लाइन को भूमिगत किया जाएगा। इसके साथ ही अन्य कार्य कराया जाएगा। इसमें स्काडा के तहत भी काम होगा। बिजली अधिकारियों ने इसके लिए सभी अधिशासी अभियंता, उपखंड अधिकारी और अवर अभियंताओं ने हर गली-मुहल्ले की डिटेल बनाई है।

रिवैंप योजना के तहत अगले 10 साल को ध्यान में रखते हुए बिजली सुधार की योजना तैयार की गई है। इसमें और नया क्या हो सकता है आदि पर एक बार फिर से सर्वे करके जानकारी जुटाई जाएगी। जिससे कोई भी क्षेत्र अछूता न रहे।

संजय कुमार गुप्ता, अधीक्षण अभियंता

Edited By: Narendra Kumar