मुरादाबाद(प्रदीप चौरसिया)।वाहन ओवर लोड हो, टैक्स जमा न हो या फिटनेस प्रमाणपत्र नहीं हो तो टोल प्लाजा पर पहुंचते ही वाहन का चालान होगा। जुर्माना टोल प्लाजा पर या बैंकों में जमा किया जा सकता है। पहली दिसंबर से नई व्यवस्था लागू किया जाना प्रस्तावित है। 

परिवहन मंत्रालय ने एक सितंबर से नया अधिनियम लागू किया है। इसका मकसद है कि सड़क दुर्घटना को कम करना और नियम का पालन कराना है। अगले चरण यानी एक दिसंबर से सड़क सुरक्षा व टैक्स चोरी पर रोक लगाने की योजना है। कई चेकिंग प्वाइंट बनाए जाएंगे। इसमें टोल प्लाजा भी एक प्वाइंट होगा। 

ऐसे करेगा काम 

टोल प्लाजा में  लगे सीसीटीवी व कांटे को परिवहन विभाग के सर्वर से जोड़ा जाएगा। वाहन जैसे ही टोल प्लाजा पर पहुंचेगा, वैसे ही सीसीटीवी वाहन का नंबर लेकर परिवहन विभाग के सर्वर को भेज देगा। इससे वाहन के बारे में पता चलेगा कि टैक्स जमा है या नहीं, फिटनेट कराई है या नहीं। कैमरा वाहन चालक का फोटो भी भेजेगा, इससे यह पता चल जाएगा कि वाहन चालक यूनिफार्म में है या नहीं। धर्मकांटा पर वाहन के पहुंचते ही तौल हो जाएगी। इससे निर्धारित क्षमता से अधिक माल है तो पता चल जाएगा। कमी मिलने पर सिस्टम वाहन का तुरंत चालान कर देगा।  

मोबाइल पर पहुंच जाएगी सूचना 

चालान होते ही वाहन मालिक के मोबाइल पर सूचना पहुंच जाएगी।  बड़ा फाल्ट होने पर क्षेत्र के परिवहन विभाग को भी सूचना मिलेगी। अधिकारी पहुंचकर या अगले थाने में वाहन को सीज भी करा सकते हैं।   

बरेली से गाजियाबाद सभी टोल पर लगे हैं कांटे 

बरेली से गाजियाबाद के बीच सभी टोल प्लाजा पर पांच धर्म कांटे हैं। कई टोल प्लाजा पर ट्रक आदि वाहनों को निकलने के लिए अलग से व्यवस्था है। संभागीय परिवहन अधिकारी आरआर सोनी ने बताया कि टैक्स का भुगतान नहीं करने वालों के लिए आधुनिक सिस्टम तैयार किया जा रहा है। टैक्स नहीं देने वालों का आसानी से पता कर वसूली की जा सकेगी। टैक्स जमा करने के लिए कई टोल प्लाजा समेत कई प्वाइंट बनाए जाने प्रस्तावित हैं।

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप