मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। अमरोहा में कोरोना संक्रमण की चपेट में अभी तक 16 828 व्यक्ति आ चुके हैं। इसमें से 16,472 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं जबकि, 203 व्यक्तियों की मौत हुई है। यह मृत्यु दर महज 1.22 फीसद है। सरकारी आंकड़े इस बात के गवाह हैं कि जिले के लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने से वह कोरोना को मात दे रहे हैं।

कोरोना महामारी को देश में दस्तक दिए हुए तीसरा साल चल रहा है। जिसमें अमरोहा जिले में भी कोरोना की पहली लहर से लेकर अब तक बड़ी संख्या में लोग चपेट में आ चुके हैं। जिसमें स्वास्थ्य विभाग 7,89,686 कोरोना आशंकित मरीजों की जांच करा चुका है। इनमें से 16, 828 लोग संक्रमित निकल चुके हैं। विभाग सामान्य कोरोना लक्षण वाले मरीजों को घरों पर ही सात दिन के लिए होम आइसोलेट करा रहा है। जबकि गंभीर लक्षण वालों को कोविड अस्पताल में भर्ती करा रहा है। सरकारी आंकड़ों पर गौर करें तो करीब 13 हजार से अधिक ऐसे मरीज थे, जो होम आइसोलेट किए गए थे और वह कोरोना को मात देकर पूरी तरह स्वस्थ हो गए। जबकि अन्य मरीज ऐसे थे, जिनकी हालत गंभीर थी और वह कोविड अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराए गए थे। इसमें खास बात यह है कि जिले में 203 व्यक्तियों की कोरोना से माैत हुई है। मृत्युदर 1.22 फीसद है। जिले में सबसे अधिक मरीजों की रिकवरी का कारण मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता को माना जा रहा है। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. सतपाल सिंह ने बताया कि कोरोना से जिले में कम लोगों की मौत हुई है। इसका कारण यह है कि लोगों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता सही है।

कम संसाधनों में किया उपचार : जिला सर्विलांस अधिकारी डा. सतपाल सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना से मृत्युदर का काम होने का करण उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होना तो है ही, साथ इसका श्रेय स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों व कर्मियों को भी जाता है, क्योंकि कोरोना काल में कम संसाधन होने के बावजूद पूरी तरह से अपनी जान जोखिम में डालकर चिकित्सक व कर्मी रात दिन लगे हुए हैं और मरीजों को बेहतर उपचार कराया।

आंकड़ों पर एक नजर

कुल जांच--7,89,686

संक्रमित--16828

स्वस्थ-16472

कुल मौत-203

सक्रिय मामले--153

Edited By: Narendra Kumar