मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Threat To Nodal Officer : अमरोहा में सर्जन के नाम पर झोलाछाप से आपरेशन कराने वाले अस्पतालों पर नेताओं की बड़ी मेहरबानी है। ऐसे ही एक अस्पताल की सिफारिश को नेताजी के बोल बिगड़ गए। उन्होंने नोडल अधिकारी से यहां तक कह डाला कि कल आफिस आकर तुम्हे देखूंगा। नोडल अधिकारी ने कहा कि मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि दैनिक जागरण ने सर्जन के फर्जी नाम पर झाेलाछाप से आपरेशन कराने वाले नर्सिंग होमों के खिलाफ अभियान चलाया था। इस दौरान कैलसा रोड पर संचालित एएम हास्पिटल, केबीएन हास्पिटल व आर्यन हास्पिटल में एक ही सर्जन डा. एके मित्तल का नाम दर्ज पाया गया। जबकि डा. एके मित्तल का कहना था कि वह सिर्फ एएम हास्पिटल में ही काम करते हैं, शेष दोनों अस्पतालों में उनके नाम का फर्जी प्रयोग हो रहा है। खबर प्रकाशित होने के बाद जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग को फटकार लगाई थी। इसके बाद जांच को पहुंचे स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डा. हरिदत्त नेमी ने केबीएन हास्पिटल की ओटी सील कर दी थी। डा. नेमी के मुताबिक दो दिन से फोन नंबर 7983944001 से उनके मोबाइल पर फोन आ रहा है। फोन करने वाला अपने आपको भाजपा पश्चिम उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग का महामंत्री महेंद्र प्रजापति बताते हुए केबीएन हास्पिटल की तत्काल सील खोलने का दबाव बना रहा है। जबकि उन्हें बता दिया गया है कि बिना सर्जन के आपरेशन थियेटर नहीं चलाया जा सकता। डाॅ. नेमी ने बताया कि सील खोलने से इन्कार करने पर फोन करने वाले ने कार्यालय आकर देख लेने की धमकी दी है। उन्होंने बताया क‍ि इस मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की जाएगी। इस संबंध में बात करने पर उक्त नंबर पर फोन मिलाया गया तो वह स्विच आफ मिला। वहीं पिछड़ा वर्ग के भाजपा जिलाध्यक्ष हरज्ञान सिंह प्रजापति ने बताया कि महेंद्र प्रजापति संगठन के क्षेत्रीय महामंत्री हैं, इस मामले में कार्रवाई शीर्ष नेतृत्व द्वारा ही की जाएगी। 

Edited By: Narendra Kumar