रामपुर। करीब सवा माह से रामपुर से दूरी बनाएं सांसद आजम खां के ईद पर आने की उम्मीद नहीं हैं। उन्होंने शहर के लोगों को जज्बाती खत लिखा है, जिसमें अपना पता नामालूम लिखा है।

सासंद आजम खां के खिलाफ एक महीने में जमीन कब्जाने के 29 मुकदमे दायर किए जा चुके हैं। प्रशासन उन्हे भूमाफिया भी घोषित कर चुका है। उनके कई साथी सपा नेता अब नहीं दिखते हैं। आजम खुद भी सवा माह से रामपुर नहीं आए हैं। अब ईद से पहले उन्होंने शहर के लोगों और यूनिवर्सिटी के बच्चों को संबोधित करते हुए खत लिखा है। 

 खत का मजमून

 मेरी बात सुनो......दिनांक 10 अगस्त 2019 पता : नामालूम 

अजीजों, आपके दिलो दिमाग में बहुत सारे सवालात होंगे, लेकिन मेरा जवाब बस इतना है कि जो लोग समझते हैं कि सब कुछ मिट जाएगा। वो सही हो सकते हैं, लेकिन एक इतिहास लिख गया एक तारीख कायम हो गई कि हड्डी-गोश्त से बना हुआ एक इंसान गली का बाङ्क्षशदा हुकूमत की मुखालफत के बावजूद एक अजीम उल शान यूनिवर्सिटी और नौनिहालों के लिए अच्छे स्कूल कायम करने में कामयाब हो सका। उन्होंने विरोधियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जिनको खुद भी मिट जाना है, उन्हें समझ लेना चाहिए कि इल्म की रौशन शमां को गुल करने का हर मददगार जल कर खाक हो जाएगा, वो इस खुशफहमी में न रहें कि तारी$ख उनको मीर जा$फर या मीर सादिक के नाम से याद रखेगी। नाली के गंदे गली•ा कीड़ों का कोई नाम नहीं होता, फकत पहचान होती है जो रहती दुनियां तक बदबू देती रहेगी। यूनिवर्सिटी के स्टा$फ और अपने तुलबा और तलाबात से कहना चाहता हूं कि मैंने इंसानी ब्रादरी की जो कराहती हुई तस्वीर देखी है। उसकी दुखन मेरे दुखों से कहीं •यादा है। घड़ी कठिन हो सकती है, लेकिन बच्चों सच यह भी है कि सच को मनवाने में देर हो सकती है शकिस्त नहीं हो सकती। इम्तिहान की इस घड़ी में जिसने जितना साथ दिया, हमें उसका उससे •यादा शुक्रगु•ाार होना चाहिए, जिन्होंने साथ नहीं दिया या जो डर गए उन पर भी हमको आगे भरोसा करना चाहिए। 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप