मुरादाबाद [मेहंदी अशरफी]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों को स्वास्थ्य लाभ के लिए आयुष्मान योजना शुरू की है लेकिन, कोरोना काल में आयुष्मान योजना का प्रचार धीमा पड़ गया। कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से जिले में अब तक 68, 983 लोगों को योजना का लाभ नहीं मिला है। देहात के 13,461, शहर के 55, 522 लोगों के गोल्डन कार्ड नहीं बनाए जा सके हैं।

आलम ये है कि प्रधानमंत्री की प्राथमिकता वाले कार्यक्रम में लापरवाही बरती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीम निरंतर मीटिंग में बेहतर काम होने का दावा कर रही है लेकिन, स्थिति बेहतर नहीं है। अब तक 20,525 लोगों को योजना का लाभ दिया जा चुका है। बाकी लोग गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए भटक रहे हैं।

शहरी क्षेत्र के इन मुहल्लों में नहीं बने गोल्डन कार्ड :

क्षेत्र,                                      लोग, 

शाहपुर तिगरी,                       1410,

मैनाठेर,                                 521,

देहरी गांव,                              1238,

सिविल लाइन,                         1170,

ज्ञानी वाली बस्ती,                    972,

मऊ,                                     736,

बुद्धि विहार,                            645,

चंद्रनगर,                              1034,

हरथला,                                  522,

अशोक नगर,                         1089,

भीमाठेर      ,                          496,

लाजपतनगर,                            537,

सूर्य नगर,                                223,

फाजलपुर,                                  637,

पंडित नगला,                             434,

आदर्श कालोनी,                           1113,

खुशहालपुर,                                 1510,

पैपटपुरा लाकड़ी,                             882,

आशियाना कालोनी,                         1202,

बगला गांव,                                      726,

आयुष्मान योजना में तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सूची दी गई है। इसमें शहर और देहात क्षेत्रों के उन लोगों के नाम दिए गए हैं। जिनसे अभी तक संपर्क ही नहीं हो पाया है। इसके लिए व्यापक स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। जिला कोआर्डिनेटर पीतांबर सिंह ने बताया कि सभी को माइक्रो प्लान दे दिया गया है। सूची के आधार पर प्रतिदिन रिपोर्ट ली जाएगी।

आयुष्मान योजना के लाभ के लिए जिले में माइक्रो प्लान के तहत काम कराया जाएगा। इसके लिए मुहल्लेवार टीमें बनाई गई हैं। प्रतिदिन प्रगति रिपोर्ट ली जाएगी। जल्द ही छूटे हुए लोगों को कवर कर लिया जाएगा।

डा. एमसी गर्ग, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Edited By: Narendra Kumar