मुरादाबाद, जेएनएन। Doctor's Protest News : डॉक्टरों पर हमलों को लेकर आइएमए ने विरोध प्रदर्शन का बिगुल बजा दिया है। दो सप्ताह में असम, बिहार, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश में हुए डॉक्टरों पर हमले के विरोध में मंगलवार को आइएमए भवन में डॉक्टर जुटे थे। आइएमए अध्यक्ष डॉ. भगतराम राणा ने बताया कि कोरोना महामारी में योद्धाओं ने अपनी जान की परवाह किए बगैर लोगों की जान बचाने का काम किया। लेकिन, आज उन्हीं लोगों पर जानलेवा हमले हो रहे हैं। सरकार ऐसे लोगों पर कार्रवाई के लिए कानून बनाए।

अब तक आइएमए के 724 योद्धा महामारी की दूसरी लहर में शहीद हो गए। उन्हें आइएमए नमन करता है। स्वास्थ्य सेवाएं देने वालों को सुरक्षा, केंद्रीय अस्पताल हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स सुरक्षा अधिनियम में आइपीसी की धारा और आपराधिक गतिविधि संहिता शामिल हो। हर एक अस्पताल की सुरक्षा के मानक बढ़ाए जाएं। हमला करने वाले दोषियों की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालताें में कराकर सख्त सजा दिलाने का प्रावधान बनाया जाए।

18 जून को डॉक्टर विरोध प्रदर्शन करेंगे। डॉक्टर काला बिल्ला बांधेंगे। संचालन सचिव डॉ. प्रीति गुप्ता ने किया। डॉ. जेके शर्मा, डॉ. विनय गुप्ता, डॉ. राजेश सिंह, डॉ. पूनम सिंह, डॉ. गोपेश मेहरोत्रा, डाॅ. दीपक रस्तोगी, डॉ. मुकेश रायजादा, डॉ. बबीता गुप्ता, डॉ. मनोज अग्रवाल, डॉ. एके सिंह, डॉ. रवि गंगल, डॉ. इरम परवीन, डॉ. विमिता अग्रवाल, डॉ. प्राप्ति सिंह, डॉ. नितिन बत्रा आदि चिकित्सक रहें। 

Edited By: Ravi Mishra