मुरादाबाद, जेएनएन। पीतलनगरी साइबर ठगों के निशाने पर है। रोजाना एक-दो लोगों के साथ ठगी की घटनाएं हो रही हैं लेकिन, कोई जालसाज अब तक पकड़ में नहीं आया है। जिन नंबरों से ठग फोन करते हैं, उनकी आइडी निकालो को झारखंड के जामतारा और आसपास की निकलती है। वहां पुलिस जाने से भी डरती है। साइबर ठगों का गढ़ कहे जाने वाला यह क्षेत्र नक्सलवाद प्रभावित भी है।

जालसाज अब रिश्तेदार बनकर ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। साइबर ठग ने कॉल की और वार्ड ब्वॉय इंद्रजीत सिंह के बेटे हिमांशु कश्यप के खाते से चालीस हजार रुपये निकाल लिए। वह थाना मझोला क्षेत्र के कांशीराम नगर का रहने वाला है। हिमाशु अभी पढ़ाई कर रहा है। हिमाशु ने बताया कि 6 दिसंबर को उसके मोबाइल पर एक कॉल आई थी। कॉल करने वाले ने बोला गुड़िया दीदी का हसबैंड बोल रहा हूं। रिश्तेदार बनकर कॉल किया और बोला मेरा फोन पे नहीं चल रहा है। उसने हिमाशु से फोन पे यूज करने के बारे में पूछा। बाद में उसका नंबर ले लिया। आरोपित ने कहा कि किसी से चालीस हजार रुपये लेने हैं तुम्हारे अकाउंट में डलवा दे रहा हूं। इसके बाद हिमाशु के वाट्सएप नंबर पर एक बारकोड भेजा। फोन पे पर उसे स्कैन करने को कहा। स्कैन करते ही हिमाशु के खाते से दो बार में 20-20 हजार रुपये कट गए। जिसके बाद हिमाशु ने ठगी की शिकायत की लेकिन, उस समय मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। बाद एसएसपी से गुहार लगाई। एसएसपी के आदेश पर मझोला थाने में अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। प्रभारी निरीक्षक मझोला राकेश कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जाच की जा रही है। दोषियों का पता लगाकर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस