मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रामपुर : आलियागंज के एक और किसान की तहरीर पर अजीमनगर पुलिस ने सांसद आजम खां व पूर्व सीओ सिटी आले हसन खां के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। यूनिवर्सिटी की जमीन से जुड़े मामले में यह अब तक छठा मुकदमा है, जिसमें किसानों की जमीन जबरन कब्जा कर यूनिवर्सिटी में मिलाने का आरोप है। यह मुकदमा ग्राम सींगनखेड़ा मझरा आलियागंज के कल्लन पुत्र झुन्डा की तहरीर पर हुआ है। इसमें कहा है कि गांव में जमीन संख्या 1230 में वह सह खातेदार है। इस जमीन पर खेती कर वह अपना परिवार पाल रहा था। आरोप है कि करीब 15 साल पहले सांसद और पूर्व सीओ ने उनकी जमीन का बैनामा यूनिवर्सिटी के पक्ष में करने का दबाव बनाया था। मना करने पर जबरन उनकी जमीन पर कब्जा कर लिया और उसे यूनिवर्सिटी की बाउंड्री में मिला लिया। जब वह अपनी जमीन जोतने गया तो उसे डरा-धमकाकर और जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया। उसे जमीन का बैनामा यूनिवर्सिटी के पक्ष में न कराने पर किसान को पूरे परिवार के साथ अफीम व चरस में जेल भेजने की धमकी दी। सांसद के इशारे पर पूर्व सीओ ने उन्हें जबरन 10-15 घंटे हवालात में बंद भी रखा था। अजीमनगर थाना प्रभारी राजीव चौधरी ने बताया कि किसान की तहरीर पर सांसद और पूर्व सीओ सिटी के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। गौरतलब है कि जिलाधिकारी से आलियागंज गांव के 26 किसानों ने शपथ पत्र देकर जमीन कब्जाने की शिकायत की थी। इसकी जांच कराई। जांच के बाद राजस्व कानूनगो की ओर से अजीमनगर थाने में सांसद और पूर्व सीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। इससे पहले नदी की जमीन कब्जाने के आरोप में मुकदमा हुआ था। इसके बाद किसानों की ओर से अलग-अलग मुकदमे दर्ज कराए जा रहे हैं। अभी तक चार किसानों की ओर से मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। आले हसन खां की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश भी दे रही है। 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप