मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। सिविल लाइंस थाना पुलिस ने अवैध देह व्यापार गिरोह का संचालन करने वाले राणा शेख उर्फ तारिक को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि उसने देश के कई राज्यों में अपना जाल फैला रखा है। इस मामले में पुलिस ने उसकी करीबी साथी भूरा उर्फ हमीद निवासी छमछम गली गुदडी मसूर खां थाना कोतवाली जनपद आगरा को गिरफ्तार किया। आरोपित बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल से एजेंट के माध्यम से लड़कियों को बुलाता था, इसके बाद उन्हें आन डिमांड संबंधित शहरों में भेज देता था।

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि अवैध देह व्यापार में संलिप्त लोगों को पकड़ने के लिए एसआइटी गठित की गई थी। टीम ने अभी तक नौ आरोपितों को जेल भेज चुकी है। जबकि दसवां आरोपित भूरा उर्फ हामिद को गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले देह व्यापार गिरोह का सरगना बने राणा शेख को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस की जांच में राणा शेख और उसकी फरार पत्नी रिया के संबंध बांग्लादेश से होने के सुबूत मिले हैं। जिसके बाद एसएसपी ने एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया को इस पूरे मामले की जांच करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। रविवार को आगरा से भूरा उर्फ हामिद की गिरफ्तारी हुई। आरोपित के पास से भी कई राज्यों में लड़कियों को भेजने की जानकारी पुलिस को मिली है। पुलिस ने जो मोबाइल फोन बरामद किया है, उससे भी बांग्लादेश के लोगों के फोन नंबर मिले हैं। पकड़ा गया आरोपित भूरा उर्फ हामिद पूर्व में पकड़े गए राणा शेख उर्फ तारिक दास के साथ मिलकर काम करता था। जब्त किए गए फोन की जांच की जा रही है। वहीं, जो सामग्री डिलीट की गई है, उसको रिकवर करने का प्रयास पुलिस कर रही है।

होटल संचालकों और महिलाओं का बना था ग्रुप : अवैध देह व्यापार के मामले में होटल के कमरे उपलब्ध कराने के साथ ही लड़किया पहुंचाने की जिम्मेदारी कुछ महिलाओं को सौंपी गई थी। पुलिस ने होटल संचालकों के साथ ही उन महिलाओं को चिह्नित कर लिया हैं, जो अवैध देह व्यापार के धंधे से जुड़ी थीं। महिलाएं लोगों को अवैध देह व्यापार में संलिप्त करने के साथ ही पुलिस की नजरों से बचने के लिए लड़कियों को सुरक्षित पहुंचाने का काम करती है। एसपी सिटी ने बताया कि होटल संचालक और महिला ग्रुप के लोगों की पहचान हो चुकी हैं।

अवैध देह व्यापार के मामले में आगरा निवासी एक आरोपित को पकड़ा गया है। इस मामले में मुख्य आरोपित से पूछताछ के बाद अन्य की गिरफ्तारी की जा रही है। होटल संचालकों के साथ ही इस काम में एक महिलाओं का ग्रुप भी लगा हुआ था। सभी की पहचान करने के साथ ही उनसे पूछताछ की जा रही है।

अखिलेश भदौरिया, एसपी सिटी

 

Edited By: Narendra Kumar