मुरादाबाद, जेएनएन। मंडल के अमरोहा में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में आठ समर्थित प्रत्याशियों की जीत के साथ सपा पहले पायदान पर रही जबकि सात सीटें हासिल कर बसपा दूसरे स्थान पर खिसक गई। वहीं पिछले चुनाव में पांच के बजाय इस बार भाजपा समर्थित छह जिला पंचायत सदस्य जीत हासिल करने में कामयाब रहे।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबले का पूर्वानुमान सही साबित हो गया। जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होने के लिए किसी भी पार्टी के पास पर्याप्त बहुमत नहीं है। इसके चलते जोड़तोड़ की कवायद के बाद ही इस कुर्सी पर कब्जा होना तय हो गया है। चुनावी नतीजों के अनुसार सपा ने आठ सीटें झटकी हैं। इनमें वार्ड तीन से विजेता सकीना बेगम लगभग नौ हजार मतों के साथ सबसे बड़े अंतर से जीत हासिल की। हालांकि पिछले चुनाव में सपा के पास 12 सीटें थी, उस लिहाज से उसका ग्राफ नीचे आया है। बसपा ने सात सीटों पर परचम लहराया है। हालांकि बसपा जिलाध्यक्ष आठ सीटों पर जीत का दावा कर रहे हैं। उनके मुताबिक वार्ड 27 से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीत हासिल करने वाले मोअज्जम भी उनकी पार्टी से हैं। पार्टी से समर्थित उम्मीदवार घोषित न होने पर वह बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ गए थे और जीत भी हासिल की। पिछली पंचायत चुनाव में बसपा ने नौ सीटें हासिल की थी। इधर, भाजपा ने छह सीटों पर जीत का परचम लहराया है। पिछले चुनाव में उसे पांच सीटें ही मिली थीं। मगर पिछला चुनाव सपा सरकार में हुआ था, इस बार भाजपा सत्ता में है। साथ ही इस चुनाव में पूर्व सांसद कंवर सिंह तंवर जैसा बड़ा चेहरा नेतृत्व कर रहा था। इसके बावजूद पार्टी सिर्फ एक सीट की बढ़त बनाने में कामयाब हो सकी। इसके अलावा छह निर्दलीयों ने भी चुनाव में बाजी मारी है। ये जिस खेमे में शामिल हो जाएंगे वही जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होने में कामयाब हो जाएगा। 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021