जागरण संवाददाता, संभल। Sambhal News :  सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कुढ़फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के गांव में दुष्कर्म के बाद आत्महत्या करने वाली किशोरी के परिवार को एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी है। चेक बिलारी विधायक मोहम्मद फहीम इरफान के भाई व प्रतिनिधि मोहम्मद हस्सान उर्फ फैजी ने किशोरी के घर पहुंचकर दिया।

कुढ़फतेहगढ के एक गांव में 12 जुलाई को 16 वर्षीय छात्रा को रजपुरा के सिसोना गांव का सोवेन्द्र उठा ले गया था। गांव के ही तीन युवकों ने भगा ले जाने में युवक की मदद की थी। अगले दिन लौटकर जब छात्रा अपने घर पहुंची तो उसने अपने साथ हुई दुष्कर्म की घटना की जानकारी दी। पीड़िता की मां थाने पहुंची और तहरीर दी।

दो दिन तक पुलिस किशोरी की मां को टरकाती रही। मामला तूल न पकड़े इसलिए दो दिन बाद 15 जुलाई को मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया। किशोरी को न्यायालय में पेश किया। उसके बयान के आधार पर तीन आरोपितों के नाम तो बढ़ा दिए गए लेकिन पुलिस कार्रवाई करने के बजाय फैसला करने का दबाव बनाती रही। जबकि आरोपित खुलेआम घूमते रहे।

पीड़िता की मां का आरोप था कि उसने डीआइजी स्तर तक शिकायत की लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई। 24 अगस्त को किशोरी की मां जब स्कूल से घर पहुंची तो दरवाजा अंदर से बंद था। पड़ोसियों की मदद से जब दरवाजा खोला गया तो बेटी फंदे पर झूली हुई थी। आत्महत्या की खबर सुनकर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।

सूचना पाकर डीआइजी शलभ माथुर समेत एसपी चक्रेश मिश्र व अन्य अधिकारी पीड़िता के घर पहुंच गए। पीड़िता की मां ने कुड़फतेहगढ़ पुलिस समेत एक अन्य अधिकारी पर आरोपित पक्ष से तीन लाख रूपए लेने और समझौते का दबाव बनाने का आरोप लगाया जिसके बाद एसपी ने विवेचक अनिल कुमार को निलंबित कर दिया।

39 दिन तक आरोपितों को तलाश तक न पाने वाली पुलिस किशोरी द्वारा की गई आत्महत्या के दिन ही एक आरोपित को गिरफ्तार भी कर लिया। इस मामले में तीसरे दिन डीआइजी ने थानाध्यक्ष को भी निलंबित कर दिया था।

Edited By: Samanvay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट