रामपुर: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आजम खा ने फिल्म अभिनेता रणवीर सिंह और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की शादी को लेकर बयान जारी किया है। उन्होंने खिलजी और पद्मावत के विवादों को लेकर दोनों के शुभचिंतकों एवं नफरत करने वालों से जानना चाहा है कि फिल्म कलाकारों की शक्ल में खिलजी और पद्मावत की याद को ताजा करने वालों की अगले दो दिन में शादी होने वाली है। ऐसे में मुझे खिलजी की संज्ञा देने वाले गंदे विचारकों से जानना चाहूंगा कि इन दोनों की शादी के मौके पर मुझे क्या सीख लेनी चाहिए। उम्मीद करता हूं कि ऐसे लोग मेरे मन की शाति के लिए अवश्य ही उन्हीं मंदिरों में प्रार्थना करेंगे, जिनमें मेरी बर्बादी की बद्दुआ कर चुके हैं। जया प्रदा ने दिया था बयान

रणवीर सिंह और दीपिका ने फिल्म पद्मावत में खिलजी और पद्मावती की भूमिका निभाई है। इस फिल्म को देखकर रामपुर से सासद रहीं अभिनेत्री जयाप्रदा ने कहा था कि उन्हें रामपुर की याद आ गई। रामपुर में आजम ने उन पर भी बहुत जुल्म कराए हैं। आजम ने दलितों की जमीन पर बनाई यूनिवर्सिटी: साध्वी

उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग की सदस्य साध्वी गीता प्रधान ने कहा कि पूर्व मंत्री आजम खा ने दलितों की जमीन पर अपनी जौहर यूनिवर्सिटी बनवाई है।

शनिवार को वह रजा टेक्सटाइल्स वाल्मीकि बस्ती पहुंची और बस्ती के लोगों से मिलीं। लोगों की पीड़ा देखकर साध्वी भावुक हो गईं। वाल्मीकि समाज के लोगो ने उन्हें एक पत्र भी दिया। उसके बाद मलिन बस्ती के लोगों से उनकी समस्या को लेकर बात की। यहा से भाजपा अनुसूचित मोर्चा की जिला उपाध्यक्ष कल्पना सहायक के घर भी गई। वहा महिलाओं और कार्यकर्ताओं ने फूलमालाएं पहनाकर स्वागत किया। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पूर्व मंत्री आजम खा रामपुर का नाम बदलने की बात करते हैं जबकि इस शहर का नाम तो स्वयं भगवान श्रीराम पर है। अगर यह नाम उनके नाम पर होता तो बदलवा देते। आजम खा ने दलितों की जमीन पर कब्जा कर अपनी यूनिवर्सिटी खड़ी की है। सरकार की योजनाओं को अधिकारी दलितों तक सही से नहीं पहुंचा रहे हैं। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और आयोग से की जाएगी। इस मौके पर भाजपा लघु उद्योग प्रकोष्ठ के पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयोजक आकाश कुमार सक्सेना हनी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Posted By: Jagran