मुरादाबाद, जेएनएन : रेलवे प्रशासन ने अभी तक 55 साल उम्र के रेलवे कर्मियों की सूची मांगी थी। अब उनका फिटनेस टेस्ट कराया जाएगा। इसका रेल प्रशासन व रेल कर्मियों को लाभ होगा। जांच में बीमारी सामने आने पर रेल कर्मचारी इलाज करा सकते हैं और बीमार व कमजोर रेल कर्मियों को रेलवे सेवानिवृत्त दे देगा।

रेलवे बोर्ड ने 50 साल से अधिक उम्र के रेलवे अधिकारियों व 55 साल से अधिक उम्र के कर्मचारियों की उपयोगिता व स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी देश भर के डीआरएम से मांगी गई थी। ट्रेड यूनियन के कड़े विरोध के कारण रेलवे कर्मियों की छंटनी करने का साहस नहीं जुटा पा रहा है। रेलवे कानूनी पेच से बचने के लिए अधिकारियों व कर्मियों के स्वास्थ्य को आधार बनाने जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने सभी रेलवे अधिकारियों को पत्र जारी किया है। इसमें लिखा गया है कि सभी रेलवे अधिकारियों व कर्मियों का प्रत्येक साल स्वास्थ्य परीक्षण कराएं। बीमारी हो, उसका इलाज कराए। अधिकारियों व कर्मियों को स्वस्थ व तनाव मुक्त रखने की व्यवस्था करें। इसके स्वास्थ्य में सुधार न हो उनकी सूचना बोर्ड को भेजे। अपर मंडल रेल प्रबंधक अश्वनी कुमार ने बताया कि रेलवे अधिकारियों को स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। जो बीमार है, उसका बेहतर इलाज किया जा रहा है। अस्वस्थ कर्मियों की मुख्यालय ने सूची मांगी है।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप