मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। अमरोहा में अधिवक्ता मनु शर्मा व उनसे स्वजन के खिलाफ नगर कोतवाली पुलिस द्वारा मारपीट की रिपोर्ट दर्ज किए जाने के बाद अधिवक्ताओं में रोष फैल गया। शनिवार को कचहरी में बार एसोसिएशन की बैठक हुई तथा कार्य बहिष्कार का एलान कर दिया गया। बाद में एकत्र होकर सभी अधिवक्ता नारेबाजी करते हुए एसपी दफ्तर पहुंचे। वहां जोया रोड पर जाम लगा दिया।

दरअसल नगर के मुहल्ला कोट निवासी अधिवक्ता मनु शर्मा व शिक्षक दंपती अर्पित खंडेलवाल में विवाद चल रहा है। दोनों पक्ष एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा चुके हैं। अब शुक्रवार शाम को नगर कोतवाली पुलिस में अर्पित शर्मा ने मुकदमे में गवाह के पति ने मनु शर्मा व उनसे स्वजन के खिलाफ नगर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोप है कि मनु शर्मा व उनके स्वजन गवाही न देने के ल‍िए दबाव बना रहे हैं तथा विरोध करने पर मारपीट की है। मुकदमा दर्ज होने के बाद शनिवार को सभी अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य का बहिष्कार कर दिया। वे मुकदमा खत्म कराने की मांग करने लगे। सुबह 11 बजे एसपी दफ्तर के बाहर जाम लगाने के दौरान वह नगर कोतवाल व एसएसआइ के खिलाफ कार्रवाई कराने की मांग कर रहे थे। जाम लगने व हंगामा होता देख एसओ देहात सुनील मलिक, एसएसआइ अमरोहा नगर जितेद्र बालियान मौके पर पहुंचे तथा एसपी के पेशकार हरिनाथ यादव ने भी अधिवक्ताओं से वार्ता की। परंतु वह एसपी को मौके पर बुलाने की मांग पर डटे रहे। इस दौरान एएसपी चंद्रप्रकाश शुक्ला मौके पर पहुंचे तथा अधिवक्ताओं से वार्ता की। उन्हें मामले की निष्पक्ष जांच कर मुकदमा खत्म कराने का आश्वासन दिया। लगभग साढ़े 11 बजे जाम खोल दिया गया।

नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ है। जिसे लेकर अधिवक्ता विरोध जता रहे थे। इस मामले की सत्यता पता कराई जाएगी। अधिवक्तागण से वार्ता हुई है। निष्पक्ष जांच कर अग्रिम कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

चंद्रप्रकाश शुक्ला, एएसपी।

Edited By: Narendra Kumar