मुरादाबाद, जेएनएन। अमरोहा के गजरौला में बस्ती मार्ग पर स्थित नशा मुक्ति केंद्र में आग लगाकर 23 लोग फरार हो गए। आग लगाने से पहले केंद्र का जाल भी तोड़ा गया। घटना से अफरातफरी मच गई। पुलिस व दमकल विभाग की गाड़ियां भी आ गईं। घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग की चपेट में आकर कई लोग झुलस भी गए और भारी नुकसान भी हुआ है।

बस्ती रोड पर मंडी समिति के सामने गांव खेड़की निवासी अजय पाल सिंह का नशा मुक्ति केंद्र है। वर्तमान में उसे जोया क्षेत्र निवासी धर्मेंद्र ने किराये पर ले रखा है। जिसकी देखरेख कैलसा बॉर्डर निवासी रिंकू समेत दो लोग करते हैं। गुरुवार की रात करीब 12 बजे उसमें 23 लोग बंद थे, जिनका नशा छुड़ाने के इलाज चल रहा था। अचानक से उपचारधीन लोगों ने नशा मुक्ति केंद्र के अंदर आग लगा दी। जैसे ही केंद्र के अंदर धुआं उठा, वहां मौजूद कर्मियों ने आनन-फानन में ताले खोलें। ताले खुलते ही उसमें बंद 23 लोगों ने मुख्य दरवाजा रूपी जाल को तोड़ दिया और फरार हो गए। उधर, इतनी देर में आग ने भी विकराल रूप धारण कर लिया। क्षेत्र में अफरातफरी मच गई। 112 डायल पुलिस के साथ फायर ब्र‍िगेड व तेवा कंपनी की आग बुझाने की मशीनें भी मौके पर पहुंच गई। करीब डेढ़-दो घंटे की मशक्कत के बाद मशीनों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। इस दौरान आसपास के घरों में सोने वाले लोग भी सड़कों पर निकल आए। आग की चपेट में आकर नशा मुक्ति में देखरेख करने वाले रिंकू समेत कई लोग झुलस गए। वहीं भारी नुकसान का भी अनुमान है। नशा मुक्ति केंद्र कर्मी रिंकू ने बताया कि अंदर बंद लोगों द्वारा आग लगाई गई। जैसे ही गेट खोले तो वह जाल तोड़ते हुए फरार हो गए। उधर, कस्बा प्रभारी रजनीश कुमार ने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। मुख्य अग्निशमन अधिकारी के वर्मा ने बताया कि काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप