जागरण संवाददाता, चुनार (मीरजापुर) : राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 7 के चौड़ीकरण में जा रही भूमि के उचित मुआवजे के लिए किसानों का रोष थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को छत्रपति क्रांति परिषद के बैनर तले इलाके के युवा किसानों ने तहसील मुख्यालय पर एक दिवसीय किसान सत्याग्रह के रूप में धरना प्रदर्शन किया। अंत में प्रधानमंत्री को संबोधित छह सूत्रीय मांगपत्र नायब तहसीलदार चुनार नटवर सिंह को सौंपा।

इसके पूर्व क्रांति परिषद के प्रमुख कुंवर अनूप सिंह ने कहा कि देश किसानों का है और किसान परेशान और बेहाल हैं। किसान अपनी भूमि के मुआवजे के लिए कई दिनों से आंदोलन कर रहे हैं लेकिन उनकी आवाज नहीं सुनी जा रही है। छत्रपति सेना ने किसानों के आंदोलन को अपना समर्थन देने की बात कहते हुए रमेश सिंह स्वामी ने कहा कि अगर किसानों की मांग नहीं मानी गई तो गांव-गांव जाकर युवा किसानों को इस आंदोलन के साथ जोड़ कर बड़ा आंदोलन किया जाएगा। वक्ताओं द्वारा मांग की गई कि भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के अनुसार ही किसानों को मुआवजा दिया जाए। प्रतापपुर गांव में प्रस्तावित टोल प्लाजा को कहीं और स्थानांतरित किया जाए। जिन किसानों की भूमि अधिग्रहीत की जा रही है उन्हें पुनर्वास व रोजगार दिया जाए। बिना उचित मुआवजे का भुगतान किया किसानों की भूमि का अधिग्रहण न किया जाए। इस दौरान पीयूष सिंह, अनुराग सिंह, प्रतीक सिंह, संदीप सिंह, कन्हैया चौहान, सृजन सिंह पटेल, सूरज पटेल, भूपेंद्र गुप्ता, सुनील यादव, दीपक मौर्या आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस