- सभी विद्यालयों को 25 सितंबर तक वायस रिकार्डर लगाने का निर्देश

- सीसीटीवी कैमरा के बाद अब इस तकनीक से लगेगा नकल पर अंकुश

जागरण संवाददाता, मीरजापुर : नकल पर अंकुश लगाने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग की कवायद जारी है। पिछले वर्ष सीसीटीवी कैमरा के बाद अब इस बार विभाग ने सभी इंटर कालेजों को वायस रिकार्डर लगाने का निर्देश जारी किया है। साथ ही सख्त ताकीद भी की है कि बिना वायस रिकार्डर के किसी भी इंटर कालेज को परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जा सकेगा। वायस रिकार्डर लगाने के लिए 25 सितंबर तक का समय दिया गया है। दो कैमरों के साथ वायस रिकार्डर से पस्त होंगे नकल माफिया

ताजे शासनादेश में प्रत्येक कक्ष में दो कैमरों के साथ वायस रिकार्डर डिवाइस लगाने का निर्देश दिया गया है ताकि हल्की से हल्की आवाज भी परिसर में अथवा नियंत्रण कक्ष तक पहुंचे। इसमें एक कैमरा श्यामपट्ट वाली दीवार पर तथा दूसरा कैमरा उसके ठीक सामने वाली दीवार पर होना चाहिए। उसी के साथ ही वायस रिकार्डर डिवाइस अटैच होनी चाहिए।

इसलिए जरूरी हुआ यह आदेश

पिछले वर्ष जब बोर्ड की परीक्षाएं हुई तो कैमरे काम कर रहे थे लेकिन बहुत जगह यह आशंका जताई गई और कहीं- कहीं पाया भी गया कि कक्ष में इमला बोलकर नकल कराया गया। कैमरे में तो कोई हरकत नजर नहीं आई लेकिन काम हो गया। इस पर इस वर्ष वायस रिकार्डर अनिवार्य किया गया ताकि धीमी से धीमी आवाज भी स्पष्ट रूप से सुनाई दे। इससे इमला बोलने वाली आशंका भी समाप्त हो जाएगी। पिछले वर्ष जिले में 96 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इस बार कम हो सकते हैं परीक्षार्थी

जासं, मीरजापुर : इस बार चार से पांच हजार तक परीक्षार्थी कम हो सकते हैं। हालांकि अभी संशोधन हो रहा है लेकिन ताजा आंकड़ों के अनुसार हाईस्कूल में लगभग 43 हजार तथा इंटरमीडिएट में तकरीबन 31 हजार परीक्षार्थियों के सम्मिलित होने की संभावना है। इससे स्पष्ट है कि इस बार तकरीबन 74 हजार परीक्षार्थी हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा में सम्मिलित होंगे जबकि पिछले वर्ष यह संख्या 78 हजार से अधिक थी।

---

वायस रिकार्डर के लिए आदेश आ गया है और केंद्रों को इसके लिए निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। वायस रिकार्डर के लिए 25 सितंबर तक की तिथि निर्धारित की गई है। उम्मीद है कि तय समय सीमा में यह कार्य हो जाएगा।

-देवकी ¨सह, जिला विद्यालय निरीक्षक, मीरजापुर ।

Posted By: Jagran