जागरण संवाददाता, विध्याचल (मीरजापुर) : विध्याचल धाम का प्राचीन वार्षिक घटा अभिषेक 20 अप्रैल को वैशाख कृष्ण पक्ष प्रतिपदा पर होगा। इस दौरान मंदिर की साफ-सफाई व धुलाई विधिवत किया जाएगा। मंदिर का कपाट सुबह दस बजे से दोपहर दो बजे तक बंद रहेंगे। इस दौरान श्रद्धालु दर्शन-पूजन नहीं कर पाएंगे।

मां विध्यवासिनी के भक्त सुबह से ही गंगा में गोता लगाकर मिट्टी के घड़े को सजा कर गंगा का पवित्र जल भर कर मंदिर की धुलाई करेंगे। उद्घोष के साथ श्रद्धालु भक्तगण मां विध्यवासिनी दरबार के समस्त मंदिरों को गंगाजल से विशेष धुलाई और अभिषेक करेंगे। इसके साथ विध्य क्षेत्र के समस्त मंदिरों में भी श्रद्धालु गंगाजल लेकर विशेष अभिषेक करेंगे। सायंकाल श्री विध्य पंडा समाज द्वारा वार्षिक पूजन गांव की रक्षा के लिए किसी भी तरह का प्राकृतिक आपदा एवं दैविक आपदा विध्य क्षेत्र में ना आए रक्षा के लिए पूजन माता विध्यवासिनी की विशेष पूजा अर्चना की जाएगी, इसलिए प्रशासन को विशेष जल पुलिस की व्यवस्था विभिन्न घाटों पर रहेगा। विध्याचल के पक्का घाट पर हजारों श्रद्धालु मां गंगा में गोता लगाएंगे और कलश में जल भरेंगे।

Posted By: Jagran