जागरण संवाददाता, पटेहरा (मीरजापुर) : पीएचसी पटेहरा के अधीन उप स्वास्थ्य सेंटर रैकरा पर गुरुवार को गांव के ही विजय शंकर गौड़ के चार माह के पुत्र साजन की दूसरा टीका लगने के बारह घंटे के अंदर मौत हो गई।

अबोध साजन को डेढ़ माह पहले उप स्वास्थ्य सेंटर रैकरा पर पहला टीका लगा था। दूसरे टीके में काली खांसी, हेपटाइटिस, डिप्थीरिया, टिटनेस, निमोनिया के लिए पेंटावेलेंट नामक वैक्सीन बुधवार को नौ बच्चों को एएनम विजय देवी के पति शिव प्रसाद ने लगवाया था। हालांकि उप स्वास्थ्य सेंटर के अलावा गांव में भी लोगों की सुविधा के लिए चयन स्थल पर टीका बराबर लगाए जाते थे। इसी क्रम में रैकरा के बरौधी टोला में साजन को टीका लगा कितु देर रात 12 बजे उसकी मौत हो गई। अबोध की मौत होने पर परिजनों में कोहराम मच गया। माता किरन देवी व पिता विजय शंकर ने एएनएम व उसके पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। परिजन मृत बच्चे को लेकर एफआइआर दर्ज कराने के लिए मड़िहान थाना पहुंचे, जहां से उन्हें चौकी पटेहरा भेज दिया गया। परिजन चौकी और पीएचसी पटेहरा का चक्कर काटते रहे। अंतत: दोपहर बाद चौकी प्रभारी धर्मनरायन भार्गव ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पीएचसी में कार्यरत एएनएम विजय देवी 13 वर्ष से लकवा की बीमारी से ग्रस्त है, तब से उसके पति शिव प्रसाद ही एएनएम का कार्य करते हैं।

किसी भी वैक्सीन से मौत नहीं होती है। वैक्सीन से रिएक्शन होता है, जो वैक्सीन लगने के तत्काल बाद ही पता चल जाता है और उसका इलाज भी हो जाता है। उप स्वास्थ्य सेंटर रैकरा पर बुधवार को साजन के अलावा नौ बच्चों को टीका लगा था। सभी बच्चे ठीक हैं। पोस्टमार्टम के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

- डा. वाजिद जमील, प्रभारी, पीएचसी पटेहरा।

Edited By: Jagran