जागरण संवाददाता, मीरजापुर : सूरत (गुजरात) से सोलह मंडलों के सोलह-सोलह सौ प्रवासी श्रमिकों को लेकर दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन शुक्रवार को मीरजापुर रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी। ट्रेन आगमन के मद्देनजर सुरक्षा के ²ष्टि से जिला प्रशासन द्वारा पूरी तरह से तैयारी कर ली गई है। साथ ही आरपीएफ व जीआरपी तथा सिविल पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है। प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए जिलेवार के लिए रोडवेज की सौ बसों को लगाई गई है। साथ ही पूरे रेलवे स्टेशन परिसर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इस दौरान गुरुवार को जिला प्रशासन के अलावा पुलिस प्रशासन के अधिकारी ने तैयारियों का जायजा लिया और मातहतों को दिशा निर्देश जारी किए।

केंद्र सरकार के पहल पर रेलवे बोर्ड द्वारा प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलाया गया है। इसी क्रम में शुक्रवार को मीरजापुर रेलवे स्टेशन पर दो ट्रेन 32 सौ प्रवासी श्रमिकों को लेकर बारी-बारी से पहुंचेगी। गुरुवार को नगर मजिस्ट्रेट जगतंबा सिंह, सीओ नगर सुधीर कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी उमेश सिंह रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। नगर मजिस्ट्रेट ने बताया कि प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए जिले वार बस लगाए जाएंगे और ट्रेन से उतरने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा थर्मल स्क्रींनिग के बाद ही प्रवासी श्रमिक का नाम व पता दर्ज कर बस में बैठाया जाएगा। बताया कि एक ट्रेन सुबह छह बजे तथा दूसरी ट्रेन साढ़े ग्यारह बजे के लगभग पहुंचेगी। प्रशासन द्वारा पूरी तरह से तैयारी कर ली गई है कोई परेशानी नहीं होगी। इस दौरान प्रवासी श्रमिकों के लिए लंच पैकेट व पानी की भी व्यवस्था किया गया है। इस मौके पर कटरा कोतवाल रमेश यादव, जीआरपी प्रभारी उदयशंकर कुशवाहा, एसआइ चंद्रशेखर यादव आदि मौजूद रहे।

सौ बसों से पहुंचाया जाएगा प्रवासियों को

जिला प्रशासन की ओर से प्रवासी श्रमिकों को उनके जिले तक पहुंचाने के लिए सौ बसें लगाई जाएगी, कोरोना वायरस को देखते हुए शारीरिक दूरी का पालन करते हुए प्रत्येक बस में चालीस प्रवासियों को बैठाया जाएगा और जिलेवार क्रम से भेजा जाएगा। वही रोडवेज के एआरएम हरिशंकर पांडेय ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से सौ बसें मांगी गई है जिसमें यहां पर बस उपलब्ध न होने के कारण प्रयागराज से 48 बस मांगी गई और मीरजापुर से 52 बस रहेगी। प्लेटफार्म एक पर खड़ी होंगी दोनों ट्रेनें

दोनों ट्रेन बारी-बारी से आएगी और ट्रेन को मीरजापुर प्लेटफार्म एक पर ही ठहराव होगा। प्रवासियों को उतारने के लिए ट्रेन के एक तरफ से ही कोच के गेट को खोला जाएगा और ट्रेन से उतरने के बाद गोलाकार आकार में खड़ा कराया जाएगा। इसके बाद स्टेशन के दो मुख्य द्वार से थर्मल स्क्रीनिग कराने के बाद ही बारी-बारी से प्रवासियों को निकाले जाएंगे। प्लेटफार्म व सर्कुलेटिग एरिया में किया गया बेरिकेडिग

प्लेटफार्म एक पर प्रवासी श्रमिक इधर उधर से निकलने पाए इसके लिए पूरी तरह से सुरक्षा के इंतजाम किए गए है। आरपीएफ द्वारा रस्सी से बैरिकेडिग कराई गई है। जिससे कोच से निकलने के बाद प्रवासी श्रमिक सीधे प्रवेश द्वार पर ही जाए। इस दौरान प्लेटफार्म एक पर भी सुरक्षा की ²ष्टि से आरपीएफ व जीआरपी के जवान तैनात रहेंगे। साथ ही रेलवे स्टेशन परिसर में भी बैेरिकेडिग कराई गई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस