जागरण संवाददाता, मीरजापुर : पर्व को देखते हुए खाद्य पदार्थों की सैंप¨लग करने निकली खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम को कटरा कोतवाली क्षेत्र के इमरती रोड पर व्यापारियों ने घेर लिया। उन पर वसूली करने का आरोप लगाया गया। ¨जदाबाद-मुर्दाबाद के नारे लगाए गए और टीम को किसी तरह बचकर आना पड़ा। आरोप है कि टीम के साथ धक्का-मुक्की भी की गई।

इस समय त्योहारों का मौसम है। इसी सीजन में मिठाइयों की सबसे अधिक बिक्री होती है। अभी दशहरा व दीपावली जैसे प्रमुख पर्व भी आने बाकी हैं। इन सबको देखते हुए शासन के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम बुधवार को मुख्य खाद्य सुरक्षाधिकारी सुमन कुमार मिश्र के नेतृत्व में इमरती रोड की तरफ गई थी। जब वहां टीम ने एकाध व्यापारियों के प्रतिष्ठान के खाद्य पदार्थों की सैंप¨लग करनी चाही तो हंगामा हो गया। देखते ही देखते सैकड़ों व्यापारी इकट्ठा हो गए और नारेबाजी शुरू हो गई। टीम को घेर लिया गया। व्यापारियों का आरोप था कि टीम के सदस्य सैंप¨लग का दबाव बनाकर वसूली करने का प्रयास कर रहे थे। जब व्यापारियों ने आपत्ति की तो कार्रवाई की चेतावनी दी गई। इस पर बवाल हो गया। टीम के सदस्यों का आरोप है कि उनके साथ धक्का-मुक्की भी की गई। किसी तरह टीम के सदस्य वहां से निकल सके। टीम के सदस्यों का कहना है कि वे इस घटना की रिपोर्ट एडीएम को देंगे। उनके निर्देशानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।

------------

इसी सीजन में होती है नकली खोए की अधिक खपत

जासं, मीरजापुर : रक्षा बंधन से लेकर दीपावली तक पर्व का सीजन माना जाता है। इसी बीच पूरे देश में नकली खोए की अधिकतम खपत होती है। मीरजापुर भी अपवाद नहीं है। नगर में ही कई ऐसे प्रतिष्ठान हैं जो इस प्रकार की मिठाईयां बेचते हैं। ग्राहक पूरे दाम देकर नकली खोए की मिठाइयां खरीदता है। यही वजह है कि इसी सीजन में सबसे अधिक अभियान चलते हैं और सैंप¨लग भी इसी सीजन में अधिक होती है। इसीलिए संभवत: विरोध भी अधिक होता है।

Posted By: Jagran