जागरण संवाददाता, हलिया (मीरजापुर) : शुक्रवार सुबह से आसमान में छाए घने बादलों को देखकर क्षेत्रीय किसानों में धान की फसलों की कटाई-मड़ाई व उनकी सुरक्षा को लेकर चिता सताने लगी है। क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों में अभी तक धान के फसलों की कटाई मड़ाई नहीं हो सकी है। मौसम में आए अचानक बदलाव को देखते हुए किसान खेतों में पककर तैयार धान के फसल की कटाई में तेजी से जुटे हुए हैं।

क्षेत्र के कपिल मुनि दुबे, संतोष सिंह, भगवत प्रसाद मौर्य, अमित मिश्रा ने आदि किसानों ने बताया कि यदि आसमान में छाए बादलों ने बारिश का रूप अख्तियार किया तो खेत में खड़ी फसल तथा खलिहानों में मड़ाई के लिए रखी फसल को भारी नुकसान होगा। वहीं, बारिश होने से अगेती बोई गई रबी की फसलें चना, सरसों, मटर, गेहूं आदि के लिए फायदेमंद साबित होगी। बादलों के आसमान में छाने से बारिश की आशंका से क्षेत्रीय किसानों की धड़कनें बढ़ गई है।

Edited By: Jagran