जागरण संवाददाता, मीरजापुर : किसानों की ओर से रेल चक्का जाम के आह्वान को लेकर मीरजापुर रेलवे स्टेशन सोमवार को पुलिस छावनी में तब्दील रहा। चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पीएचसी जवान के साथ महिला पुलिस कर्मी तैनात रहे। वहीं आरपीएफ और जीआरपी की टीम रेलवे ट्रैकों की निगरानी करते हुए चक्रमण करने के साथ ही ट्रेनों की चेकिग करते रहे। हालांकि दोपहर बाद तक एक भी किसान रेलवे स्टेशन पर नहीं पहुंच पाए, लेकिन सुरक्षा को लेकर पुलिस व प्रशासन के अधिकारी जानकारी लेते रहे। इसके अलावा अदलहाट, अहरौरा व जमालपुर समेत कई इलाकों में किसानों ने विरोध दर्ज कराया।

कृषि कानून के विरोध के साथ ही लखीमपुर खीरी मामले को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर सोमवार को किसानों द्वारा रेल रोको आंदोलन के मद्देनजर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी चौकन्ना रहे। सुबह होते ही पुलिस व पीएसी के जवान और महिला पुलिस बल प्रशासनिक अधिकारियों के साथ स्टेशन पर पहुंचकर मोर्चा को संभालने के लिए डट गए। पूरी तरह से सतर्कता बरतते हुए स्टेशन पर आने-जाने वाले प्रत्येक यात्रियों की जांच शुरू हो गई।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह ने स्टेशन पर पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया और पुलिस व पीएसी के जवानों को चौकन्ना रहने के लिए निर्देशित किया। हालांकि देर शाम तक एक भी किसान स्टेशन तक नहीं पहुंच पाए, तब जाकर अधिकारियों ने राहत की सांस ली। इस मौके पर जीआरपी प्रभारी हरिशरण सिंह यादव, आरपीएफ प्रभारी रजनीश राय आदि स्टेशन पर तैनात रहे। प्रशासन ने फेरा पानी, किसानों ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

अदलहाट : कृषि आध्यादेश वापस लेने, लखीमपुर खीरी घटना के दोषियों पर कार्रवाई, गृह राज्यमंत्री को तत्काल बर्खास्त करने आदि मांगों को लेकर सोमवार को किसान संयुक्त मोर्चा ने सिकिया बाइपास त्रिमोहानी पर बैठकर धरना सभा किया। किसानों ने सरकार विरोधी नारे भी लगाए। अहरौरा रोड रेलवे स्टेशन पर रेल पुलिस डटी रही। धरना सभा के बाद किसान संयुक्त मोर्चा ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा।

अहरौरा रोड रेलवे स्टेशन पर चक्का जाम करने से रोके जाने पर भारतीय किसान सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामराज सिंह पटेल के नेतृत्व में किसान सिकिया बाइपास त्रिमोहानी पर धरने पर बैठ गए। दूसरी ओर भारतीय किसान संयुक्त मोर्चा के किसान नेता सिचाई डाक बंगला टेडुआ में लामबंद होकर बैनर पोस्टर के साथ नारेबाजी कर रेल चक्का जाम करने जुलूस के साथ चल दिए। किसानों का जुलूस सिकिया बाइपास त्रिमोहानी पर पहुंचा, लेकिन पुलिस बल ने आगे बढ़ने नहीं दिया तो किसान धरने पर बैठ गए। अध्यक्षता भक्त प्रसाद श्रीवास्तव व संचालन शशिकांत कुशवाहा ने किया। धरना सभा को रामराज सिंह पटेल, प्रहलाद सिह, सिद्धनाथ सिह, धर्मेंद्र सिह, अनिल सिंह पटेल, विरेंद्र सिह, मुन्ना चौबे, रतन चौरसिया, सुरेंद्र सिंह आदि ने संबोधित किया।

Edited By: Jagran