जागरण संवाददाता, मीरजापुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा मंगलवार को बजट पेश किया गया। बजट को लेकर जनप्रतिनिधियों ने इसे जनता के हितों को ध्यान में रखने वाला बजट बताया तो वहीं अन्य दलों द्वारा मिली जुली प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे जनविरोधी बताया। कहा कि आम बजट में मीरजापुर जनपद को कुछ खास नहीं मिला। जनता को आम बजट में काफी निराशा हाथ लगी है। सरकार द्वारा बेहतरीन आम बजट पेश किया गया लेकिन मीरजापुर के कार्पेट व पीतल उद्योग को काफी निराशा लगी। कार्पेट व पीतल उद्योग को पुर्नजीवित करने के लिए सरकार द्वारा न तो कोई विशेष प्राविधान किया गया न ही कोई बजट जारी किया गया।

------------------

सरकार द्वारा पेश किया गया बजट गरीबों, किसानों के हित में है। सरकार का बजट सराहनीय है। इस बजट से उत्तर प्रदेश का संपूर्ण विकास होगा। सरकार द्वारा आम बजट में हर वर्ग को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है। इस बजट के लिए मुख्यमंत्री व वित्तमंत्री को आभार व्यक्त करते हैं।

- रमाशंकर सिंह पटेल, ऊर्जा राज्यमंत्री।

----------------

आम बजट में सभी वर्गो के हितों को ध्यान रखा गया है। पर्यटन को बढ़ावा देने, शिक्षा व चिकित्सा के साथ ही बेटियों की शादी के लिए विशेष प्राविधान किया गया है। आम बजट में अटल आवासीय विद्यालय के लिए 270 करोड़, मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के लिए 100 करोड़ और युवाओं को अपना कारोबार शुरू करने के लिए युवा हब योजना के लिए 1200 करोड़ का प्राविधान किया गया है। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

- रत्नाकर मिश्रा, नगर विधायक।

-------------

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा और ऐतिहासिक बजट है। जो युवाओं, किसानों, गरीब और पिछड़े दलितों का हितैषी बजट है। इसमें सभी वर्गो के हितों का ध्यान रखा गया है।

- अनुराग सिंह, चुनार विधायक।

------------------

वर्ष 2020 का आम बजट जनता, किसान, नौजवान, छात्र और धार्मिक संस्कृति को बढ़ावा देने वाला है। जनता को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सरकार का प्रमुख एजेंडा है, इसका बजट में खास ध्यान रखा गया है। स्वच्छता जो देश के लिए मिसाल बन रही, उसके लिए भी सरकार द्वारा धन की व्यवस्था की गई है। वृद्धा, विधवा को पेंशन के लिए सरकार ने बजट का प्राविधान किया है। ओबीसी, एसटी वर्ग के छात्रों को छात्रवृत्ति के लिए विशेष ध्यान रखा गया है। यह प्राकृतिक बजट की संज्ञा दी जा सकती है, इसमें सभी पहलुओं पर ध्यान रखा गया है।

- राहुल प्रकाश कोल, छानबे विधायक।

------

-----------

आम बजट प्रदेश के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा बजट है। इस बजट के द्वारा उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन बनाने का लक्ष्य है। बजट का आकार पांच लाख 12 हजार 860 करोड़ 72 रूपया है। इस बजट में 10 हजार 967.87 करोड़ की नई योजनाएं शामिल है। यह बजट युवाओं की शिक्षा, संवर्धन और रोजगार को समर्पित है।

- बृजभूषण सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष।

----------------

बजट में आम आदमी के लिए कोई प्राविधान नहीं किया गया है। किसान, नौजवान व परेशान जनता पर आम बजट में कोई ध्यान नहीं दिया गया है। आम बजट में सभी वर्गो के हितों की अनदेखी की गई है। नगर में आवागमन के लिए जर्जर शास्त्री की मरम्मत या नए पुल के लिए लोगों को आम बजट में आशा थी लेकिन निराशा हाथ लगी है। सरकार द्वारा पुराने बनाए गए पूलों पर रंगाई पुताई कराकर उदघाटन करने का काम किया है।

- शिवशंकर सिंह पटेल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष।

--------------

आम बजट में किसानों के लिए कोई प्राविधान नहीं है। बजट में केवल मंदिर, मूर्ति आदि पर खर्च करने के लिए बजट जारी किया गया है। इससे आम जनता को कोई फायदा नहीं है। सरकार द्वारा पेश किया गया आम बजट पूरी तरह से फेल है।

- देवी प्रसाद चौधरी, सपा जिलाध्यक्ष।

-----------

आम बजट से जनता को निराशा हाथ लगी है। हांलाकि पुलिस बल के आधुनिकीकरण योजना के लिए 122 करोड़ रुपये और विधि विज्ञान प्रोगशालाओं के लिए 60 करोड़ रूपए का प्राविधान किया गया है, जो सराहनीय है।

- राजेश गौतम, बसपा, जिलाध्यक्ष।

------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस