जागरण संवाददाता, हलिया (मीरजापुर): क्षेत्र के बेलाही के मुरचहवा जंगल में शुक्रवार को साड़ी के फंदे से लटकते हुए मिला सीमा के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पति देवीदास की तहरीर पर पुलिस अग्रिम कार्रवाई करने में जुटी है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही महिला की मौत का मामला स्पष्ट होगा कि उसने आत्महत्या की है या फिर किसी ने उसको मारकर वहां फंदे पर लटकाया था। जैसी रिपोर्ट आएगी, उसके अनुसार कर्रवाई होगी।

पति की ओर से पुलिस को दी गई सूचना में बताया कि 21 सितंबर को लापता बेटियों का कंकाल हर्रा जंगल में मिलने की जानकारी होने पर वे अपने साले रमाकांत निवासी सुखड़ा के साथ जंगल में गए थे। लौटने पर देखा कि पत्नी सीमा घर से गायब है। उसकी खोजबीन की गई, लेकिन वह नहीं मिली। 24 सितंबर को सुबह चरवाहों के द्वारा सूचना दी गई कि बेलाही के मुरचहवा जंगल में एक महिला का शव पेड़ पर साड़ी के सहारे लटक रहा है। पुलिस के साथ मौके पर पहुंचकर वहां पड़े टूटे हुए मोबाइल फोन सहित चप्पल, साड़ी से शिनाख्त की कि महिला उसकी पत्नी सीमा है। मोबाइल तोड़कर फेंके जाने से लग रहा है कि किसी ने उसकी हत्या की है। इसलिए घटना की जांच की जाए जिससे सच्चाई से पर्दा उठ सके।

सिम खोलेगा हत्या का राज

- बेलाही गांव निवासी सीमा के शव के पास उसका टूटा हुआ मेाबाइल मिला था, लेकिन उसमें सिम नहीं था। इससे आशंका जताई जा रही है कि महिला के मोबाइल का सिम जिसके पास होगा वही इस घटना से पर्दा उठाएगा। ग्रामीणों को आंशका है कि बालिकाओं की हत्या का राज खुलने की डर से आरोपित ने महिला को भी बुलाकर जंगल में मार डाला। घटना का राज खुलने की डर से उसके मोबाइल से सिम निकालकर उसको तोड़कर फेक दिया। पुलिस महिला के काल डिटेल को खंगाल रही है। काल डिटेल के आधार पर ही कुछ संदिग्धों से पूछताछ किया जा रहा है। महिला का शव घर से दस किलोमीटर दूर मिलने के मामले को संदिग्ध बताया जा रहा है।

तीन बेटियों को अकेले नहीं

मार सकती महिला

हलिया के बेलाही गांव निवासी महिला सीमा का शव पेड़ से लटकते हुए पाए जाने के बाद ग्रामीण तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं। उनका कहना है कि महिला अकेले अपने तीन बेटियों को मार नहीं सकती है। निश्चित रूप से इसमें कुछ लोग और शामिल हैं। जिसने महिला का सहारा लेकर उसकी तीन बेटियों को रास्ते से हटाने के लिए जंगल में बुलाया और वहां उनकी गला दबाकर या जहर देकर मार डाला। इसके बाद महिला को लेकर वे इंदौर चले गए। एक सप्ताह बाद उसके ही इशारे पर महिला ने अपने भाई रमाकांत को फोनकर पति से अनबन होने के कारण तीनों बेटियों को इंदौर की एक महिला को सौंपने की बात कही। जब तीनों बालिकाओं का कंकाल जंगल में मिला तो महिला डर गई। दूसरे आरोपित को इसके बारे में बताया होगा तो उसने महिला को जंगल में बुलाकर उसे भी मार डाला ताकि इस राज से पर्दा नहीं उठ सके।

Edited By: Jagran