जागरण संवाददाता, मीरजापुर : सरकार द्वारा गरीब मरीजों को निश्शुल्क व बेहतर इलाज की देने की कवायद की जा रही है, तो वहीं दूसरी जिला प्रशासन द्वारा निजी पैथोलाजी केंद्रों पर अंकुश नहीं लगा पा रहा है, जिसके चलते इन पैथोलाजी केंद्रों पर मरीजों का जमकर शोषण किया जा रहा है। पैथालाजी केंद्र संचालकों द्वारा जांच के नाम पर मरीजों से मोटी रकम वसूली जा रही है। पैथालाजी केंद्रों पर संचालकों द्वारा जांच का रेट लिस्ट नहीं लगाया गया है, जिसके चलते मरीजों को वास्तविक मूल्य नहीं मालूम हो पाता है। वहीं रिपोर्ट देते समय पैथालाजी संचालकों द्वारा मरीजों से रसीद को वापस ले लिया जाता है। निजी चिकित्सालयों और पैथोलाजी सेंटरों में अप्रशिक्षित कर्मचारियों द्वारा मरीजों की जांच की जा रही है। इन अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर आधार देखकर ही मरीजों की जांच की जाती है।

सीएमओ डा. ओपी तिवारी के अनुसार जनपद में निम्न पैथालाजी व डायग्नोस्टिक सेंटर 30 अप्रैल 2019 तक वैध है। जिसमें अभिषेक निदान केंद्र, आदित्य डायग्नोस्टिक सेंटर, नेशनल डायग्नोस्टिक सेंटर, लाल पैथ लैब अनगढ़, मां संकठा डायग्नोस्टिक सेंटर, न्यू जनता डायग्नोस्टिक सेंटर रामबाग, एक्सिस पैथ केयर अस्पताल रोड, जनता पैथालाजी धुंधीकटरा, सतीश डायग्नोस्टिक सेंटर रामबाग, जनक पैथालाजी सेंटर, प्रकाश पैथालाजी ब्रहमचारी कुंआ, उषा डायग्नोस्टिक एंड डेंटल सेंटर, इंदू स्कैन पैथालाजी, पैथकाइंड लैब संकटमोचन, समर्थ नर्सिंग होम और एसआर डायग्नोस्टिक सेंटर है। वहीं नरायनपुर में श्रीकृष्णा पैथालाजी, आदित्य पैथालाजी सेंटर, आकाश पैथालाजी सेंटर, असक पैथालाजी सेंटर, गैपुरा में अजंता पैथालाजी केंद्र, सत्यम डायग्नोस्टिक सेंटर हैं।

------------

13 पैथोलाजी सेंटर निलंबित

जनपद में रजत पैथोलाली, मंगल डायग्नोस्टिक सेंटर, भगवती पैथालाजी सेंटर, रौनक पैथालाजी सेंटर, एक्सल डायग्नोस्टिक लैब, न्यू अजंता पैथालाजी, अजंता पैथालाजी सेंटर, असक पैथोलाजी सेंटर, हर्ष पैथोलाजी सेंटर विजयपुर, अभिषेक पैथोलाजी सेंटर, अनुज पैथोलाजी सेंटर, सत्यम डायग्नोस्टिक सेंटर राजगढ़, राज पैथोलाजी सेंटर राजगढ़, रिलायबल डायग्नोस्टिक सेंटर मीरजापुर, एक्सेल डायग्नोस्टिक सेंटर को निलंबित किया जा चुका है।

---------

वर्जन-----

जनपद में 26 पैथालाजी सेंटर एवं 26 अल्ट्रासाउंड केंद्र संचालित हैं। अवैध संचालित सेंटरों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाती है। अब तक 13 पैथालाजी केंद्रों को निलंबित किया जा चुका है।

- डा. ओपी तिवारी, मुख्य चिकित्साधिकारी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप