जागरण संवाददाता, मीरजापुर : पथरहिया स्थित विकास भवन सभागार में परियोजना निदेशक ऋषि मुनि उपाध्याय की अध्यक्षता में आवास दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें आम जनता को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के बारे में जानकारी दी गई। कहा कि आवास लाभार्थियों के चयन के लिए सरकार द्वारा मानक तय किया गया है। जिसमें पक्की छत या पक्की दीवार वाले, दो से अधिक कमरों के मकान में रहने वाले, मोटरयुक्त दो पहिया, तिपहिया, चौपहिया वाहन, 50 हजार अथवा इससे अधिक ऋण सीमा वाले किसान क्रेडिट कार्डधारक को योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

पीडी ने बताया कि पंजीकृत गैर कृषि उद्यम वाले परिवार, 10 हजार से अधिक रुपये कमाने वाले परिवार, आयकर, व्यापार कर, रेफ्रिजरेटर, लैंडलाइन फोन अथवा 2.5 एकड़ या इससे अधिक सिचित भूमि या कम से कम एक सिचाई उपकरण वाले किसान इस योजना के दायरे में नहीं आएंगे। बताया कि योजना के तहत आश्रयविहीन, बेसहारा व भीख मांगकर जीवनयापन करने वाले, हाथ से मैला ढोने, आदिम जनजातीय समूह व बंधुआ मजदूरों को आवास प्राथमिकता पर दी जाएगी। एक्सईएन बिजली विभाग एके सिंह ने लोगों को सौभाग्य योजना के बारे में विस्तार से बताया। कहा कि सौभाग्य योजना के तहत बिजली कनेक्शन के लिए किसी भी व्यक्ति को धन नहीं दे। संबंधित के बारे में सीधे जानकारी दें, कार्रवाई होगी। बैठक में घनश्याम सिंह, आपूर्ति निरीक्षण अजय मिश्रा, प्रदीप मिश्रा आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस