जासं, विध्याचल : विध्याचल के बरतर तिराहे के पास बनाए गए रैन बसेरे में जिलाधिकारी द्वारा 40 गद्दे, रजाईयां, कंबल आदि रखवाए गए। भ्रष्टाचार करने वालों ने यहां भी कमाई का जरिया खोज लिया। दिन भर रैन बसेरे पर ताला लटका रहता है। रात के समय दर्शनार्थियों से पैसे लेकर ताला खोला जाता है। प्रशासन द्वारा दी गई निश्शुल्क व्यवस्था से धन उगाही के खेल पर पुलिस प्रशासन भी मौन है। इससे यहां आने वाले दर्शनार्थियों में काफी नाराजगी है। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि जब रैन बसेरे की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जा रही तो इसे बंद किसके आदेश पर रखा जाता है। इस मसले पर नगर पालिका परिषद के इओ विनय कुमार तिवारी ने बताया कि रैन बसेरा चौबीसों घंटे खुला रहना चाहिए। साफ-सफाई के लिए कुछ देर बंद किया जा सकता है लेकिन हमेशा बंद नहीं होता। यह मामला संज्ञान में आया है जिसकी जांच की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस