जागरण संवाददाता, पटेहरा (मीरजापुर) : ब्लाक की लापरवाही से पात्र के बजाए अपात्र के खाते में 1.30 लाख रुपये चला गया था लेकिन जब इसकी जानकारी पात्र महिला को हुई तो वह इसकी शिकायत बीडीओ से किया। इसकी भनक लगते ही अपात्र ने कार्रवाई से बचने के लिए तत्काल पंजाब एंड ¨सध बैंक कुबरी से प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण उत्तर प्रदेश के खाते में धन को भेज दिया। हालांकि आरोप है कि यह तो एक नमूना है ऐसे कई लोग है जिनके खाते में धन चला गया है अगर जांच कराई जाए तो पोल खुल सकता हैं।

विकास खण्ड क्षेत्र के रामपुर रिक्शा ग्राम पंचायत में शेक सूची में दर्ज नाम विधवा शांती पुत्री कुंतामनी ब्राह्मण की जगह बेवा शांति पत्नी कल्लू यादव को वर्ष 2016-17 में आवास दे दिया था ¨कतु जब असली शांति को नेट द्वारा किसी के बताने पर देखा गया तो उसके पैरों तले मानो जमीन ही खिसक गई हो । बुधवार को असली शांति देवी ने खंड विकास अधिकारी डीपी ¨सह के यहां पहुंचकर आवेदन कर आप बीती सुनाई। जिसकी जांच भी की गई। अपात्र को जब यह सूचना मिली कि फर्जीवाड़े में बने आवास का पर्दाफास हो गया है तो वह कार्यवाही से बचने के भय से अपने निजी खाते पंजाब एंड ¨सध बैंक कुबरी पटेहरा के खाते से एक लाख 30 हजार रुपये को इलाहाबाद बैंक पथरौर के प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण उत्तर प्रदेश के खाते में ट्रांसफर कर दिया । उक्त कार्यवाही की ब्लाक में चर्चा रही। वही ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि यदि छानबीन हो तो दर्जनों आवास की फर्जीवाड़ा की कलई खुल सकती है ¨कतु अधिकारी व कर्मचारी जब कोई विरोध करता है तब उनकी तन्द्रा टूटती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप