जागरण संवाददाता, मीरजापुर : सदर तहसील से सटे पांडेयपुर रोड स्थित कसेरवा का इनारा क्षेत्र में दो महीने पहले बारिश के समय नाला टूट गया था। इसे अभी तक ठीक नहीं किया गया। इसका नतीजा है कि नाले का पानी आसपास डूबा हुआ है। एक मकान तो पूरी तरह से जलमग्न होकर ध्वस्त हो गया। न तो नगर पालिका परिषद और न ही ग्राम पंचायत द्वारा पानी निकासी की व्यवस्था की जा रही है। स्थानीय लोगों ने बताया कि मच्छरों की महामारी बढ़ने के खतरे से लोग दहशत में हैं।

जनपद का यह मुख्य नाला आबादी के बीच से गुजरता है और यह हमेशा भरा रहता है। दो महीने पहले हुई जोरदार बारिश में नाला अचानक टूट गया और चारों ओर पानी भर गया। उस समय कई चारपहिया वाहन भी पानी में डूब गए थे। एक परिवार वहां रहता था, वह मकान भी पानी में डूब गया जो अब पूरी तरह से ध्वस्त हो चुका है। स्थानीय लोगों ने बताया कि यह क्षेत्र नगर पालिका परिषद में नहीं आता इसलिए सफाई नहीं कराई जा रही और न ही ध्वस्त नाले का निर्माण हो रहा है। दो महीने से जमा गंदे पानी में अब मच्छरों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है जिसकी वजह से बीमारियां होने का खतरा काफी बढ़ गया है। इसकी शिकायत भी नगर पालिका सहित ग्राम पंचायत स्तर पर कई बार की गई लेकिन अभी तक पानी निकासी की कोई सही व्यवस्था नहीं कराई जा सकी है। स्थानीय लोगों ने कहा कि यही हाल रहा तो जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करना पड़ेगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस