जासं, हलिया (मीरजापुर) : स्थानीय विकास खंड के चककोटार (वीरपुर) गांव में बुधवार को सम्राट अशोक वेलफेयर सोसाइटी द्वारा आयोजित बौद्ध महोत्सव में हजारों की भीड़ जुटी रही। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त आइएएस तपेंद्र प्रसाद शाक्य ने भगवान बुद्ध की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया। महोत्सव में जुटे लोगों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि तपेन्द्र प्रसाद शाक्य ने कहा कि भगवान बुद्ध ने एक ऐसे धर्म युग का आरंभ किया। जिसका ²ष्टिकोण वैज्ञानिक था जो किसी भी काल तथा किसी भी क्षेत्र में मान्य हो सकता है।

उन्होंने महात्मा बुद्ध के सिद्धांतों को अपनाकर समाज के शोषितों वंचितों की सेवा करने के लिए कहा। विशिष्ट अतिथि छानबे विधायक राहुल प्रकाश कोल ने कहा कि बौद्ध धर्म का उदय ऐसे समय में हुआ था जब समाज रूढि़वादी परम्परा में जकड़ा हुआ था। महात्मा बुद्ध ने समाज की इन्ही विसंगतियों को दूर करने के लिए बौद्ध धर्म की स्थापना की। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को पूर्व राज्यमंत्री राकेश मौर्य, पूर्व विधायक सूर्यभान, सेवानिवृत्त न्यायाधीश छोटेलाल ने भी संबोधित किया। इस दौरान अयोध्या प्रसाद यादव, बिरजू सिंह, अनिल मौर्य, जनार्दन कोल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस