जागरण संवाददाता, मीरजापुर : मंडलीय चिकित्सालय का पिछले 50 सालों का रिकार्ड उस समय टूट गया जब रविवार को चिकित्सालय के इमरजेंसी में केवल 200 मरीज ही अपना इलाज कराने पहुंचे। सभी ने जनता क‌र्फ्यू का समर्थन किया और छोटी मोटी बीमारी होने पर चिकित्सालय नहीं आए। वार्डो में भर्ती चल रहे मरीजों के अलावा उनके साथ केवल एक मरीज रहे, अन्य परिवार के लोग अपने अपने घर लौट गए। जिससे चिकित्सालय में किसी प्रकार भीड़ भाड़ इकट्ठा नहीं हो। मरीजों ने जनता क‌र्फ्यू का जमकर समर्थन किया और अपने मरीज को स्वास्थ्य कर्मियों के सहारे छोड़कर घर चले गए। इमरजेंसी में भी अधिक मरीज नहीं आए।

मंडलीय चिकित्सालय में जहां सुबह होते ही पैर रखने तक की जगह नहीं रहती थी वहीं रविवार को सन्नाटा पसरा रहा। इमरजेंसी के अलावा कोई मरीज चिकित्सालय नहीं आया। इमरजेंसी में भी कुल 200 मरीज ही आए। जिसमें 70 लोग उल्टी, दस्त, बुखार, पेट दर्द, सिर में दर्द आदि के थे। जबकि 80 मरीजों में बच्चे, घायल व बुर्जुग व महिलाए शामिल रही। इसके अलावा कोई मरीज नहीं आया। कोरोना रोग से भी संभावित मरीज कोई नहीं देखा गया। अधिकांश लोगों ने शासन के इस आदेश का खुलकर समर्थन किया। जो भी आया वह पूरी तरह से सुरक्षित होकर आ रहा था। मरीज मुंह पर मास्क लगाकर ही अस्पताल में प्रवेश कर रहे थे। जिसके पास मॉस्क की सुविधा नहीं थी वे गमछे से मुंह ढके हुए आए। ये डाक्टर तैनात रहे इमरजेंसी में

मरीजों के इलाज के लिए रविवार को मंडलीय चिकित्सालय में डा. सुशील सिंह, देवेश पांडेय, श्रवण चौधरी, अभिषेक द्विवेदी तैनात किए गए थे। ताकि मरीजों के आने पर उनके इलाज में किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। उनका बेहतर तरीके से इलाज किया जाए जिससे वे स्वस्थ्य हो सके। इमरजेंसी के अलावा कॉल पर फिजिशियन में डा. देवर्षि पाठक, सर्जन डा. जीसी यादव, बाल रोग विशेषज्ञ डा. आरके सिंह, आर्थो डा. विनीत जायसवाल मुस्तैद रहे। कोरोना मरीजों के लिए डा. केपी तैनात रहे

कोरोना मरीजों के लिए डा. केपी श्रीवास्तव को तैनात किया गया था। जो अस्पताल में आने वाले मरीजों की जांच कर रहे थे। उनमें कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई देने पर सर्दी जुकाम की दवा देकर वापस घर भेज दे रहे थे। आइसोलेशन वार्ड में एक ही संदिग्ध भर्ती रहा

मंडलीय चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में अभी तक मात्र एक ही कोरोना का संदिग्ध मरीज भर्ती है। जिसका स्वास्थ्य टीम की सुरक्षा में इलाज चल रहा है। रविवार को काफी एहतिहात बरता गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस