जासं, मीरजापुर : अपर जिलाधिकारी यूपी सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक की गई। इसमें यह निर्णय लिया गया कि फसल अवशेष, पराली जलाने वालों पर एफआइआर दर्ज कराई जाएगी। बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया। एडीएम ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी अधिकारी अपने क्षेत्र में यह सुनिश्चित करें कि किसी भी दशा में पराली न जलाई जाए।

अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) यूपी सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में एक बैठक की गई जिसमें सभी उप जिलाधिकारी, उप कृषि निदेशक अशोक कुमार उपाध्याय सहित सभी अधिकारियों निर्देशित करते हुए अपर जिलाधिकारी वित्त राजस्व ने कहा कि सभी अधिकारी सुनिश्चित करें कि उनके क्षेत्रों में कोई भी किसान फसलों के अवशेषो को खेत मे न जलाने पाए।यदि कोई किसान अपने खेतों में फसल के अवशेषों (पराली) को जलाते पाया गया तो उस पर एफआइआर दर्ज कराई जाए। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव, मड़िहान एसडीएम विमल कुमार दुबे, एसडीएम चुनार जंग बहादुर यादवा, जिला पंचायत राज अधिकारी अरविद कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप