जागरण संवाददाता, मीरजापुर : पड़री थाना क्षेत्र के चपगहना गहना गांव निवासी जरुल्ले ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर मंडलीय चिकित्सालय में तैनात एक सर्जन चिकित्सक पर आपरेशन के दौरान बेटे का किडनी निकालकर बेचने का आरोप लगाया है। शिकायतकर्ता ने एसपी से समिति गठित कर दफन किए गए बेटे के शव को क्रब से बाहर निलकवाकर कर उसका पोस्टमार्टम कराते हुए इसकी जांच कराने की मांग की है। साथ ही आरोपित चिकित्सक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर उसे जेल भेजने की गुहार भी लगाई है।

शिकायत कर्ता ने बताया कि मेरे लड़के मेराज के पेट में दर्द होने पर 12 सितंबर को मंडलीय चिकित्सालय में तैनात एक चिकित्सक को दिखाया तो उन्होंने पेट के दाहिने ओर पथरी होने की बात बताते हुए उसे भर्ती कर लिया। अगले दिन 13 को अपेंडिक्स का आपरेशन किया। हालत गंभीर होने पर 14 को वाराणसी के अशोक पुरी कालोनी स्थित एक निजी चिकित्सालय रेफर कर दिया। वहां पहुंचा तो यहीं डाक्टर वहां मिले। 15 सितंबर को उन्होंने कहा कि इसका दोबारा आपरेशन कर रोग को ठीक कर दूंगा। उसे आपरेशन के लिए अंदर ले गए। कुछ घंटे बाद बताया कि उनके बेटे की आपरेशन के दौरान मौत हो गई। यह सुनकर वह भौचक्का हो गया। उसे आशंका है कि चिकित्सक ने मेरे बेटे की किडनी निकालकर बेच दिया जिससे उसकी मौत हो गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप