जागरण संवाददाता, मीरजापुर : टाडा फाल पशु आश्रय केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे जिलाधिकारी व उनके सहयोगियों ने सात गोवंश को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सोमवार को जिलाधिकारी पशु आश्रय केंद्र पर गोवंश के रखरखाव, चारे-पानी आदि की व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे थे। जहां पता चला कि सात गोवंश करीब 15 फीट की खाई में गिर गए हैं और जीवित हैं।

इसके बाद जिलाधिकारी ने निरीक्षण अधूरे में ही छोड़ दिया व गोवंश को बचाने निकल पड़े। फाल का फिसलन भरा रास्ता व खाई में उन्हें उतरता देख सहयोगियों ने रोकने की कोशिश की लेकिन वे नहीं माने। जिलाधिकारी के साथ ही अर्दली जयनाथ, गनर अखिलेश पाल व नगर पालिका के संविदाकर्मी जटाशंकर, उमेश यादव, शिवनंदन पाल, दिलीप कुमार, अजय कुमार, पारस यादव, मनोज यादव व रामसजीवन भी उनके साथ हो लिए। गोवंश को बांधने के लिए तुरंत रस्सा मंगाया गया और जिलाधिकारी की अगुवाई में रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया गया। इस प्रयास में डीएम सहित अन्य सदस्यों को हल्की चोटें भी आई लेकिन सभी सात गोवंश को सुरक्षित बाहन निकाल लिया गया। रामनवमी के अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा निरीह मवेशियों की जान बचाने की पहल को लोगों ने साहसिक कार्य बताया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप