जागरण संवाददाता, मीरजापुर : उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज मंडल के एडीआरएम इंफ्रा अतुल गुप्ता ने बुधवार को चुनार व मीरजापुर स्टेशन का निरीक्षण किया। दोनों स्टेशनों पर मिली खामियों को देख नाराजगी जताई। मातहतों को हिदायत देते हुए कहा कि अपने कार्यों में सुधार लाएं अन्यथा कार्रवाई होगी। यात्रियों की सुविधाओं का पूरा ख्याल रखा जाए, लापरवाही न बरती जाए।

एडीआरएम दोपहर बाईरोड मीरजापुर पहुंचे। यहां उन्होंने तीनों प्लेटफार्मो का जायजा लेने के साथ ही स्वचालित सीढ़ी को देखा। पार्सल कार्यालय, डिप्टी एसएस कार्यालय, कंट्रोल रूम, आरक्षित व जनरल टिकट काउंटरों का निरीक्षण किया। प्लेटफार्म एक पर बने दिव्यांगों के लिए शौचालय का दरवाजा खुला देख नाराजगी जताई। महिला व पुरुष प्रतीक्षालय को देखा तो वहां पर दोनों का एक ही शौचालय होने पर कहा कि अलग-अलग शौचालय बनाया जाए। इसके लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा जाए। सफाई व्यवस्था पर भी नाराजगी जताई। टी स्टालों के निरीक्षण के दौरान कहा कि ग्राहकों को सामान लेने पर रसीद दी जाए, साथ ही निर्धारित मूल्य पर ही सामान बेचा जाए। अधिक दाम लेने की शिकायत मिली तो संबंधित संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद ब्रह्मपुत्र से प्रयागराज रवाना हो गए। इस मौके पर एसएस रवींद्र कुमार, सीआइटी परवेज अहमद, टीआइ मनीष कुमार आदि रहे। पार्किंग के लिए प्रस्ताव तैयार करें

चुनार में एडीआरएम ने स्टेशन का औचक निरीक्षण किया और यात्री सुविधाओं को परखा। स्टेशन पर मिली छोटी मोटी खामियों को सुधारने के निर्देश दिए। पुरुषोत्तम एक्सप्रेस से चुनार पहुंचे एडीआरएम ने प्लेटफार्म पर सफाई व्यवस्था को देखा। स्टेशन परिसर के बाहर पार्किंग की व्यवस्था न होने पर एडीईएन हिमांशु गौतम से प्रस्ताव तैयार कराकर भेजने को कहा। टिकट खिड़की पर जाकर जानकारी ली और जनरल टिकट के बारे में एसएस से पूछा। गार्ड रनिग रूम का निरीक्षण किया। इस दौरान सीएसआई दिनेश गुप्ता, एडीएसटी, एसएस आरके पांडेय आदि रहे।

Edited By: Jagran