जागरण संवाददाता, जमालपुर (मीरजापुर) : क्षेत्र पंचायत प्रमुख उपचुनाव के प्रत्याशी अमित कुमार को चुनाव से पूर्व तगड़ा झटका लगा है। चुनार के तहसीलदार द्वारा जारी उनका अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र जिलाधिकारी ने निरस्त कर दिया है। निवर्तमान ब्लाक प्रमुख संजय सोनकर ने अमित कुमार के जाति प्रमाणपत्र को चुनौती दी थी। 23 सितंबर 2015 को चुनार तहसीलदार ने अमित कुमार को चैनपुरा गांव से अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र जारी किया था। उसी प्रमाणपत्र के आधार पर अमित कुमार गुलौरी से क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ कर जीते थे। इसके बाद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित प्रमुख का चुनाव लड़ कर मात्र दो मतों से पराजित हुए थे। संजय सोनकर द्वारा लगाए गए आरोप जांच में सही पाए गए कि अमित कुमार ने कूटरचित व जालसाजी कर चैनपुरा गांव के कुटुंब रजिस्टर में गरीबदास एवं सोनी देवी के पुत्र के रूप में अपना नाम दर्ज करा लिया था। जांचोपरांत यह पाया गया कि अमित कुमार गौरी गांव के प्रभात ¨सह एवं मधुबाला देवी के पुत्र हैं। इसी आधार पर जिलाधिकारी ने अमित कुमार के लिए जारी अनुसूचित जाति के प्रमाणपत्र को निरस्त कर दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस