जासं, जिगना (मीरजापुर) : छानबे क्षेत्र के बसंत पट्टी गांव में कार्ड धारकों ने प्रधान के घर पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकान से अनाज न मिलने पर हंगामा किया। कार्ड धारकों ने आरोप लगाया कि बसंत पट्टी ग्राम पंचायत में कुल 29अंत्योदय व 1729 यूनिट पात्र गृहस्थी के लाभार्थी है। जिसमें फरवरी माह में 100 यूनिट उपभोक्ताओ का नाम काट दिया गया। यही नहीं मार्च में भी लगभग 50 यूनिट के उपभोक्ता सूची में नाम न होने से राशन पाने से वंचित हो गए।

कार्डधारकों ने आरोप लगाया कि लगभग दो माह में कोटे की दुकान से दो सौ यूनिट के कार्ड धारक सार्वजनिक दुकान से गल्ला नहीं पा रहे है। जिससे गरीब कार्ड धारक परेशान होकर महंगें दामों में राशन खरीदकर अपने परिवार का जिविकोपार्जन करने को विवश है। बात यह हैं कि उक्त सार्वजनिक वितरण की दुकान पांच माह पूर्व दुकानदार के मृत हो जाने से ग्राम पंचायत से चार किलोमीटर दूर किशुनपुर ग्राम पंचायत की दुकान से सम्बद्ध है। जिससे कार्डधारक दूर का रास्ता तय कर गल्ला लाने को मजबूर है। लाभार्थी अन्जू देवी, अनारकली, अनिता देवी, उर्मिला, गेना, सन्जू, रेखा, शकुंतला, रामसागर, पूनम, पूजा, लवकुश, राधेश्याम, जयशंकर, राधे आदि प्रधान के घर को घेरकर न्याय की गुहार लगाई है।

वर्जन

कार्डधारकों के आधार कार्ड आदि कई बार दिया गया पर बार-बार लाभार्थियो को दौड़ाया जा रहा है, ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से न्याय की गुहार भी लगाई हैं, इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

रमेश बिद, ग्राम प्रधान बसंत पट्टी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस