मीरजापुर (जेएनएन)। शादी होने के बाद सोमवार की सुबह कोहबर की ठिठोली दूल्हे को रास नहीं आई। गुस्से में कमरे से बाहर निकल जाना ससुराल वालों को भी नहीं भाया। मामला इतना आगे बढ़ गया कि दुल्हन ने ससुराल जाने से इन्कार कर दिया। यह बात ग्राम प्रधान तक पहुंची तो दोनों पक्षों को काफी समझाने का प्रयास किया गया लेकिन, बात नहीं बनी। इसके बाद दूल्हे पक्ष के लोगों ने बरौंधा पुलिस चौकी में तहरीर दी और बिना दुल्हन के ही बरात लेकर लौट गए।

लालगंज थाना क्षेत्र के बामी गांव निवासी बृजलाल के लड़के की शादी बबुरा भैरोदयाल गांव में प्रभुदयाल की पुत्री कुसुम के साथ 10 जून को तय थी। रविवार की शाम धूमधाम के साथ बरात आई। खुशी के माहौल में द्वार पूजा की रस्म पूरी की गई। इसके बाद वैदिक मंत्रोच्चार के बीच विवाह संपन्न कराया गया। सुबह दूल्हा जब कोहबर में आया तो दुल्हन की सहेलियों और घर की महिलाओं ने हंसी-ठिठोली शुरू कर दी। यह सब नागवार लगने पर दूल्हा गठबंधन को छोड़ आंगन से बाहर चला आया।

यह देख दुल्हन पक्ष की महिलाओं ने दूल्हे को पागल बताकर दुल्हन की विदाई करने से इन्कार कर दिया। दुल्हन की विदाई न होने की बात आग की तरह पूरे गांव में फैल गई और दोनों पक्ष में तू-तू मैं-मैं शुरू हो गई। मामला जब ग्राम प्रधान के पास पहुंचा तो उन्होंने मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाने का पूरा प्रयास किया लेकिन, दुल्हन किसी की बात मानने को तैयार नहीं हुई। इसके कारण बरातियों ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी। इसके बाद बिना दुल्हन के ही बरात वापस लेकर चले गए।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप