जागरण संवाददाता, मड़िहान (मीरजापुर) : तहसील क्षेत्र के किसानों ने टेल तक पानी न पहुंचने पर शुक्रवार की शाम साढे़ चार बजे के लगभग मीरजापुर-सोनभद्र मार्ग को जाम कर दिया। इससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे स्थानीय पुलिस वालों ने काफी समझाने का प्रयास किया लेकिन किसान नहर विभाग के अधिकारियों के बुलाने पर अड़े रहे। हालांकि इसके पूर्व तहसीलदार सुनील कुमार मौके पर पहुंचे और जिले के अधिकारियों को अवगत भी कराया लेकिन किसान मानने को तैयार नहीं थे उनका कहना था कि जब तक संबंधित अधिकारी नहीं आएंगे तब तक वे जाम को समाप्त नहीं करेंगे।

स्थानीय तहसील क्षेत्र के किसानों ने शाम मीरजापुर-सोनभद्र मार्ग को उस समय जाम कर दिया जब सम्बंधित विभाग से कोई जिम्मेदार अधिकारी उनका ज्ञापन लेने और नहर में पानी खोलने का आश्वासन देने नहीं आया। किसानों की मांग रही कि जब तक नहर में तत्काल पानी खोले जाने का आश्वासन नहीं मिलेगा तब तक जाम को समाप्त नहीं करेंगे। किसानों ने आरोप लगाया कि विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण धान की फसल सूखने की कगार पर पहुंच गई है। इसके बाद भी नहर में पानी नहीं छोड़ा जा रहा है। आक्रोशित किसानों ने सूखी धान की फसलों को लेकर सड़क पर बैठ गए। जाम की सूचना मिलते ही एमसीडी नहर प्रखंड के एसडीओ विजय प्रताप व बिजली विभाग के जेई विजय कुमार यादव तथा थाने के सब इंस्पेक्टर अनवर खान मौके पर पहुंचे और उनके द्वारा 36 घंटे के अंदर (शनिवार की सुबह) टेल तक पानी पहुंचाने के आश्वासन देकर जाम को समाप्त कराया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप