जागरण संवाददाता, मीरजापुर : विध्याचल मंडल में किसानों से धान खरीद तो बड़ी तेजी चल रही है लेकिन बजट के अभाव में किसानों को लगभग 32 करोड़ रुपया का भुगतान नहीं हो सका है। किसान आज भी अपनी उपज का दाम लेने के लिए इंतजार कर रहे हैं। बकाए की बात करें तो अकेले सोनभद्र पीसीएफ पर ही लगभग 17 करोड़ रुपया किसानों का बकाया है तो वहीं मीरजापुर पीसीएफ पर चार करोड़ और पीसीयू को किसानों को दो करोड़ रुपये भुगतान करना है। पीसीएफ व पीसीयू द्वारा बजट के अभाव में किसानों का भुगतान नहीं किया जा रहा है तो अन्य क्रय एजेंसियां पीएफएमएस के कारण भुगतान करने में विलंब कर रही हैं। किसानों को अब केवल पीएफएमएस से भुगतान के शासन के नए फरमान ने क्रय संस्थाओं की समस्याओं को बढ़ा दिया है।

विध्याचल मंडल में किसानों से धान खरीद के लिए 241 क्रय केंद्र बनाए गए हैं, जिसमें से 233 पर धान खरीद चल रही हैं। विध्याचल मंडल में निर्धारित लक्ष्य चार लाख 59 हजार 100 एमटी धान खरीद के सापेक्ष तीन लाख 38 हजार 408 एमटी धान की खरीद 28581 किसानों से किया गया है। इसके लिए किसानों को अबतक 62098 लाख का भुगतान किया जा चुका हैं। बावजूद इसके किसानों को लगभग 32 करोड़ रुपये भुगतान करना शेष है। जनपद मीरजापुर के 122 क्रय केंद्र पर 14697 किसानों से निर्धारित लक्ष्य दो लाख 60 हजार के सापेक्ष 181168 एमटी धान खरीद हुई है। जिसमें से 33224 लाख का भुगतान हो चुका है जबकि 773 लाख का भुगतान बकाया है। सोनभद्र में 76 क्रय केंद्रों में से 69 पर निर्धारित लक्ष्य 112200 के सापेक्ष 75636 एमटी धान की खरीद 7001 किसानों की गई है। जिसके बाबत किसानों को अब तक 13879 लाख का भुगतान किया जा चुका है। वहीं दूसरी तरफ जनपद भदोही में 42 क्रय केंद्रों पर शासन से निर्धारित 86900 एमटी के सापेक्ष अब तक 81603 एमटी धान की खरीद 6883 किसानों से की जा चुकी है। इसके लिए किसानों को 14974 लाख का भुगतान किया जा चुका है।

----------

वर्जन

विध्याचल मंडल में शासन के दिशा निर्देश के अनुसार धान खरीद किसानों से की जा रही है। वर्तमान समय में किसानों को 32 करोड़ का भुगतान करना है। इसमें सोनभद्र में पीसीएफ को 17 करोड़, मीरजापुर में पीसीएफ को चार करोड़ व पीसीयू को दो करोड़ का भुगतान करना है। वहीं शासन द्वारा पीएफएमएस से भुगतान का निर्देश दिया गया है। नई व्यवस्था के चलते थोड़ा विलंब हो रहा है। हालांकि सभी किसानों को जल्द से जल्द भुगतान कराया जाएगा।

- केके सिंह, आरएफसी, विध्याचल मंडल।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस