मेरठ,जेएनएन। कंपनी की नीतियों व मेहनताना को लेकर गुरुवार को जोमैटो राइडर्स ने कमिश्नरी चौक पर एकत्र हो प्रदर्शन किया। इस दौरान करीब सौ से अधिक राइडर्स ने कंपनी के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही जोमैटो के तहत कैंट जोन में कार्यरत अधिकांश राइडर्स ने डिलीवरी भी बंद रखी।

फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो के राइडर्स की मांग थी कि प्रतिदिन पेट्रोल के दाम बढ़ने के कारण उन्हें मिलने वाला चार्ज छह रुपये प्रति किलोमीटर के हिसाब से मिले। आर्डर का न्यूनतम बेस पे तीस रुपये तय होना चाहिए। आर्डर कैंसिल होने की प्रक्रिया में बदलाव जरूरी है। इसके अलावा मांग की कि राइडर्स के साथ होने वाले किसी हादसे का तुरंत जायजा लेकर उस पर उचित कार्रवाई व क्षतिपूर्ति की व्यवस्था बने। राइडर्स का आरोप है कि आर्डर उन्हें असाइन होने पर ज्यादा पैसे दिखाए जाते हैं, जबकि उसके बाद कम पे आउट दिया जाता है। इसके साथ ही अन्य मुख्य मांग उठाई हैं। इस दौरान राजू कुमार, मोनू सोम, प्रवीन कुमार, संदीप चौहान आदि राइडर्स मौजूद थे। राइडर्स का कहना है कि अगर उनकी मांगों पर सुनवाई नहीं हुई तो काम को पूरी तरह से ठप कर सड़क पर उतरेंगे। पेट्रोलियम पदार्थो की बढ़ती कीमतों के विरोध में प्रदर्शन : पेट्रोलियम पदार्थो की बढ़ती कीमतों के विरोध में गुरुवार को पार्टी कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। बाद में प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया गया। इस मौके पर प्रदीप कसाना ने कहा कि लगातार रसोई गैस, डीजल, पेट्रोल, बिजली के बिल व सरसों के तेल की कीमतें बढ़ने से आम लोगों के दैनिक जीवन में समस्याएं आई हैं। आज आम व्यक्ति के लिए जीवनयापन मुश्किल हो चुका है। मांग की कि सरकार जल्द से जल्द बढ़ी कीमतों को वापस ले, नहीं तो समाजवादी कार्यकर्ता बड़ा आंदोलन करने के लिए विवश होंगे। प्रदर्शनकारियों में प्रशांत कसाना, कीर्ति घोपला, सुमित लखवाया, खुर्रम इंचौली, तरुण राजपूत, प्रिस पावटी, मुनीर इंचौली, रविद्र घोपला, शुभम भड़ाना आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran