मेरठ, जागरण संवाददाता। यश की हत्या ने एक हंसता-खेलता परिवार उजाड़ दिया। तीन बहनों का यश अकेला भाई था। बुजुर्ग माता-पिता का सहारा था। वह रस्तोगी परिवार की आंखों का तारा था। एक झटके में सब खत्म हो गया। स्वजन की भविष्य की तैयारियां धरी की धरी रह गईं। 

मिलनसार युवक था यश  

आसपास के लोगों ने बताया कि यश मिलनसार था। उसके माता-पिता बुजुर्ग हैं। उसकी तीन बहनें हैं। वह सबसे छोटा था। दो बहनों की शादी हो चुकी है। अब दोनों के भविष्य को लेकर स्वजन में बातें चलती थीं। बेटी की शादी और फिर यश की। 26 जून से पहले सब कुछ सही चल रहा था। शनिवार देर रात खबर ने परिवार को तोड़ दिया। पुलिस ने पहले करीबी रिश्तेदारों को बताया। इसके बाद स्वजन को। बहनों को तो सुबह जानकारी दी गई।

उन्होंने पहले तो घटना को मानने से ही इन्कार कर दिया। बहनों का कहना तो यही था कि यश अभी आने वाला है। वे बार-बार बेसुध हो रही थीं। बुजुर्ग पिता को भी लोग संभाल रहे थे। रिश्तेदार और आसपास के लोग गम में थे। 

पहले भाई अब बेटा चला गया

रिश्तेदारों ने बताया कि यश की मां बीमार रहती हैं। काफी पहले उनके भाई की मौत हो गई थी, जिससे वे उबर नहीं सकीं। अब जवान बेटे की मौत हो गई। दुखों का पहाड़ उन पर टूट गया है।

यश के घर पहुंचे ऊर्जा राज्य मंत्री

घटना की जानकारी मिलने पर रविवार दोपहर बाद ऊर्जा राज्य मंत्री डा. सोमेंद्र तोमर पीड़ित परिवार के घर पहुंचे। उन्होंने यश के पिता और अन्य स्वजन से घटना की जानकारी ली। सोमेंद्र तोमर ने परिवार के सदस्यों के सामने ही एसएसपी रोहित सिंह सजवाण और एसपी सिटी को फोन कर सख्त कार्रवाई करने के लिए कहा। साथ ही परिवार को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

आरोपितों पर रासुका की मांग

यश की हत्या की सूचना पर विवि के छात्र नेता विनीत चपराणा भी साथियों संग पोस्टमार्टम हाउस पहुंचो। उन्होंने कहा कि हत्यारोपितों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। जिस फैक्ट्री में हत्याकांड को अंजाम दिया गया, उस पर बुलडोजर चलाया जाना चाहिए। 

यह है मामला 

जागृति विहार सेक्टर छह में अनिल रस्तोगी का परिवार रहता है। उनका बेटा यश एलएलबी का छात्र था। स्वजन के अनुसार, 26 जून की शाम चार बजे यश स्कूटी लेकर घर से निकला था, लेकिन वापस नहीं लौटा। मुकदमा दर्ज कर  पुलिस ने यश की तलाश शुरू कर दी थी। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि काल डिटेल और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने अलीशान, सलमान निवासी कांच का पुल लिसाड़ी गेट और शावेज निवासी इम्लियान थाना सिविल लाइंस को गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर शनिवार देर रात लिसाड़ी गेट क्षेत्र में पिलोखड़ी पुल के पास स्थित नाले से शव बरामद कर लिया।

यह भी पढ़ें: स्वजन ने मेरठ पुलिस के दावे को नकारा, बोले- आरोपित कर रहे थे परेशान

यह भी पढ़ें: हाथ-पैर बांधे, मुंह में कपड़ा ठूंसा और फिर रस्सी से गला घोंट दिया

Edited By: Parveen Vashishta