मेरठ, जेएनएन : उप्र प्रदेश श्रम कल्याण परिषद अध्यक्ष सुनील भराला ने बताया कि प्रदेश में श्रमिकों के कल्याण के लिए जल्द दो नई योजनाएं शुरू की जाएंगी। इसमें एक खेल व दूसरी धार्मिक दर्शन योजना हैं।

अध्यक्ष सुनील भराला ने शनिवार को सर्किट हाउस में श्रम विभाग के मंडलीय अधिकारियों की बैठक ली। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत की। बताया कि धार्मिक एवं पर्यटन यात्रा का नाम स्वामी विवेकानंद कल्याण धार्मिक एवं पर्यटन यात्रा रखा है। दूसरी योजना का मिल्खा सिंह खेल कल्याण योजना रखा गया है। इनके लिए अनुमति की प्रक्रिया चल रही है। खेल योजना में जनपद स्तर पर 10, प्रदेश स्तर पर 15 तथा राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को 20 हजार की धनराशि अनुदान के रूप में दी जाएगी। इनका प्रस्ताव 65 वीं बोर्ड बैठक में हुआ है।

भराला ने बताया कि श्रमिकों के पुत्र व पुत्रियों को पुरस्कार प्राविधिक शिक्षा में प्रवेश करने पर आर्थिक सहायता, मेधावियों को पुरस्कार राशि वितरण, पुत्री के विवाह पर आर्थिक सहायता, विधवाओं एवं आश्रितों को आर्थिक सहायता, अंत्येष्टि के लिए आर्थिक सहायता जैसी योजनाओं में मिलने वाली धनराशि को दोगुना किए जाने का प्रस्ताव भी पारित कराया है। उन्होंने कहा फैक्ट्रियों के संचालकों से भी कहा गया है कि वह अनप्रयोग की गई धनराशि को उदारतापूर्वक श्रम कल्याण बोर्ड को भेजें। साथ ही फैक्ट्रियों का भी नए सिरे से सर्वे करने व अधिक से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह श्रमिकों के बच्चों के लिए स्किल डवलपमेंट योजनाओं का लाभ प्रदान करने को कार्ययोजना तैयार करें।

बैठक में उप श्रमायुक्त दीप्तिमान भट्ट, सहायक श्रमायुक्त सुमित कुमार, श्रम प्रवर्तन अधिकारी विजय शंकर तिवारी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी चंद्र प्रकाश, हेमंत कुमार, क्षत्रसाल बर्नवाल समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप