मेरठ, जेएनएन। सोमदत्त सिटी में पीएसी में तैनात एएसआइ के बेटे ने पत्नी को जहर देकर मार दिया। साक्ष्य मिटाने के लिए शव का अंतिम संस्कार कर दिया। मायके वालों की शिकायत पर फोरेंसिक टीम ने चिता की राख को कब्जे में ले लिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

बुलंदशहर के शिकारपुर थाने क्षेत्र के तुर्कीपुरा गांव निवासी राकेश ने अपनी बेटी अंजू उर्फ अंजना की शादी दो साल पहले मेडिकल थाना क्षेत्र के सोमदत्त सिटी निवासी मुनेश के बेटे कपिल उर्फ कुलदीप से की थी। मुनेश वर्तमान में गाजियाबाद स्थित पीएसी वाहिनी में एएसआइ पद पर तैनात हैं। राकेश ने मेडिकल थाने में दर्ज मुकदमे में आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही कपिल लगातार अंजू को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहा था। सोमवार को कपिल ने अंजू को जहर देकर मार दिया। इसके बाद उसने परिवार के साथ मिलकर शव का सूरजकुंड स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया। मंगलवार को मायके पक्ष को घटना की जानकारी मिली। मायके पक्ष ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपित कपिल को गिरफ्तार कर लिया। सीओ हरि मोहन ने बताया कि कपिल और उसके परिवार के खिलाफ दहेज हत्या और साक्ष्य छिपाने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। फायरिग में होटल स्वामी पर दो हजार का इनाम

मेरठ : घंटाघर स्थित एसपी सिटी ऑफिस के पास कार पार्किंग को लेकर दो पक्षों में हुए पथराव एवं फायरिग में नामजद होटल स्वामी पर दो हजार का इनाम घोषित कर दिया।

घंटाघर पर हुई ताबड़तोड़ फायरिग और पथराव में देहलीगेट पुलिस की तरफ से जानलेवा हमला और मारपीट का मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने होटल अल करीम के स्वामी नासिर, उसके भाई फिरोज और परिवार के अन्य सदस्य नासिर, आसिफ, शाद, शकील, जावेद और दूसरे पक्ष से मेहताब, अल्ताफ उर्फ टिड्डा, कादिर, जुनैद, उबैद और दोनों पक्षों के अन्य साथियों को अज्ञात में रखा गया। पुलिस ने दबिश डालकर होटल अल करीम के स्वामी नासिर के भाई फिरोज और चचेरे भाई शकील तथा दूसरे पक्ष से मेहताब को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित नासिर अभी पुलिस पकड़ से दूर है। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि नासिर की फरारी पर दो हजार का इनाम कर दिया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस