मेरठ, जेएनएन। हेलमेट नहीं पहनने पर पुलिस लाइन के पास ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने स्कूटी सवार अधिवक्ता को रोक लिया। चालान कटने की नौबत आई तो अधिवक्ता ने हंगामा शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने डीएल मांगा तो खुद को रोहिग्या तक बता दिया। बाद में ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने साढ़े तीन हजार रुपये का चालान कर दिया। वहीं, अधिवक्ता ने पुलिसकर्मियों पर अवैध वसूली करने का आरोप लगाया।

मंगलवार दोपहर बाद टै्रफिक पुलिसकर्मी पुलिस लाइन के गेट नंबर तीन के पास वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। तभी विक्टोरिया पार्क की ओर से स्कूटी सवार अधिवक्ता (पूर्व पार्षद) परवीन राही निवासी मलियाना, शिव शक्तिनगर आ रहे थे। उन्होंने हेलमेट नहीं लगा रखा था। इस पर होमगार्ड ने उनको रोक लिया। ट्रैफिक पुलिसकर्मी चालान करने लगे तो वह भड़क गए। डीएल मांगने पर खुद को रोहिग्या तक बता दिया। पुलिसकर्मियों और अधिवक्ता में काफी देर तक नोकझोंक होती रही। बाद में उनका हेलमेट नहीं पहनने और डीएल नहीं होने पर साढ़े तीन हजार रुपये का चालान कर दिया। पुलिसकर्मी ने बताया कि पूर्व में भी उनका हेलमेट नहीं पहनने पर चालान हुआ है। वहीं, अधिवक्ता ने कहा कि चालान की आड़ में उनसे रुपये मांगे गए थे। नहीं देने पर जानबूझकर चालान किया गया है। वहां से और भी लोग बिना हेलमेट के जा रहे थे, पुलिस ने उनमें से किसी को नहीं रोका। उधर, एसपी ट्रैफिक संजीव वाजपेयी ने कहा कि हेलमेट और डीएल नहीं होने पर चालान किया गया है। नियम सबके लिए एक जैसे हैं। वसूली के आरोप की जांच कराई जाएगी। वहीं, राहगीरों ने पूरे मामले का वीडियो बना लिया। कुछ देर बाद वह वायरल भी हो गया। इस दौरान लोगों ने अधिवक्ता को समझाने का भी प्रयास किया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस